वो 5 खिलाड़ी जिन्होंने भारत को एशिया कप 2018 में बनाया था चैंपियन, लेकिन 2022 में नहीं होंगे टीम का हिस्सा

वो 5 खिलाड़ी जिन्होंने भारत को एशिया कप 2018 में बनाया था चैंपियन, लेकिन 2022 में नहीं होंगे टीम का हिस्सा
TheDesiawaaz Desk 
वो 5 खिलाड़ी जिन्होंने भारत को एशिया कप 2018 में बनाया था चैंपियन, लेकिन 2022 में नहीं होंगे टीम का हिस्सा

भारतीय टीम फिलहाल वेस्टइंडीज के खिलाफ T20 सीरीज खेलने में व्यस्त है. इस सीरीज के बाद भारतीय टीम को जिंबाब्वे का दौरा करना होगा. इस साल अगस्त के महीने में एशिया कप का आयोजन भी होना है. आखिरी बार एशिया कप 2018 में खेला गया था और भारतीय टीम चैंपियन बनी थी. इस बार भी टीम इंडिया एशिया कप ट्रॉफी जीतने के इरादे से उतरेगी. आज हम आपको उन पांच भारतीय खिलाड़ियों के बारे में बता रहे हैं, जो 2018 के एशिया कप में मैच विनर साबित हुए थे. लेकिन इस बार खेलते हुए नजर नहीं आएंगे.

वो 5 खिलाड़ी जिन्होंने भारत को एशिया कप 2018 में बनाया था चैंपियन, लेकिन 2022 में नहीं होंगे टीम का हिस्सा

एमएस धोनी 

एमएस धोनी 2018 के एशिया कप में भारतीय टीम के लिए खेले थे. धोनी ने फाइनल मुकाबले में अहम पारी भी खेली थी. धोनी की कप्तानी में 2018 में भारतीय टीम ने एशिया कप ट्रॉफी अपने नाम की थी. धोनी क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं.

शिखर धवन 

शिखर धवन 2018 के एशिया कप में रोहित शर्मा के साथ बतौर ओपनर खेले थे. उन्होंने फाइनल मैच में 44 गेंदों में 60 रन की पारी खेलकर भारत को चैंपियन बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. हालांकि धवन अब वनडे फॉर्मेट में ही खेल रहे हैं और इस बार एशिया कप T20 फॉर्मेट में खेला जाएगा. ऐसे में शिखर धवन इस बार शायद एशिया कप में खेलते हुए नजर नहीं आएंगे.

अंबाती रायडू 

2018 के एशिया कप के फाइनल मैच में अंबाती रायडू दो ही रन बना पाए थे. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भी पिछले कुछ समय से वह अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए. ऐसे में इस बार एशिया कप में उनका खेलना मुश्किल है.

केदार जाधव 

केदार जाधव ने 2018 के एशिया कप के फाइनल मैच में नाबाद 23 रन की पारी खेली थी. साथ ही 2 विकेट भी हासिल किए थे. लेकिन एशिया कप 2022 में उनके खेलने की कोई भी संभावना नहीं है.

खलील अहमद 

खलील अहमद एशिया कप 2018 में हांगकांग के विरुद्ध मैच में 3 विकेट चटकाने में कामयाब रहे थे. हालांकि फाइनल मैच में उन्हें मौका नहीं दिया गया था. लेकिन उस टूर्नामेंट में वह भारत के लिए काफी महत्वपूर्ण साबित हुए.

From around the web