क्रिकेट इतिहास के वो 4 बल्ले जिसने बदल दी क्रिकेट की पूरी परिभाषा

क्रिकेट इतिहास के वो 4 बल्ले जिसने बदल दी क्रिकेट की पूरी परिभाषा
 
क्रिकेट इतिहास के वो 4 बल्ले जिसने बदल दी क्रिकेट की पूरी परिभाषा

क्रिकेट गेंद और बल्ले का खेल है. दोनों एक-दूसरे के बिना अधूरे हैं. क्रिकेट के खेल में लगातार परिवर्तन होते रहे हैं. इस परिवर्तन के साथ बल्लेबाजों के द्वारा उपयोग में लाए गए बल्ले भी बदलते गए. आज हम आपको उन चार बल्लों के बारे में बताने जा रहे हैं जिस कारण क्रिकेट का खेल पूरी तरह से ही बदल गया.

क्रिकेट इतिहास के वो 4 बल्ले जिसने बदल दी क्रिकेट की पूरी परिभाषा

कूकाबुरा बीस्ट

कूकाबुरा बीस्ट को क्रिकेट जगत में बदलाव लाने वाला बल्ला माना जाता है. यह प्रसिद्ध खेल कंपनी कूकाबूरा स्पोर्ट्स का सबसे उत्कृष्ट मॉडल है. यह इंग्लिश विलो लकड़ी से बनाया जाता है. इस लकड़ी को प्राकृतिक हवा सुखाया जाता है. जबकि जूनियर वर्जन में कश्मीरी लकड़ी का इस्तेमाल होता है. इस बल्ले की मुठिया को बनाने के लिए सरावक केन नाम की लकड़ी इस्तेमाल में लाई जाती है. जिस पर ऑक्टोपस ग्रिप चढाई चढ़ाई जाती है और मजबूत बनाया जाता है. इस बल्ले का उद्देश्य कम वक्त में बेहतरीन पावर रोक लगाना है.

रीबॉक ब्लास्ट

रीबॉक स्पोर्ट्स के मामले में एक बड़ी कंपनी है और कई तरह के बल्ले बनाती है. इस बैट को बनाने के लिए इंग्लिश विलो लकड़ी का उपयोग होता है. जबकि इस पर शेवरॉन का ग्रिप चढ़ाया जाता है. ये पारंपरिक तरह का बल्ला होता है. लेकिन इसे बनाने के लिए आधुनिक तरीका उपयोग में लाया जाता है. यह वजन में काफी भारी होता है.

कूकाबूरा कहुना

कहुना’ बैट ‘कूकाबुर्रा स्पोर्ट्स’ कंपनी का प्रीमियम ब्रांड है. यह भी इंग्लिश विलो लकड़ी से बनाया जाता है. जिसका हैंडल 12 पीस ‘सरावक केन’ नाम की लकड़ी से बनता है. इसका पिकअप बहुत फास्ट होता है.

ग्रे निकोलस वाईपर

ग्रे और निकोलस कंपनियों के विलय होने के बाद इस बल्ले का नाम ग्रे निकोलस वाईपर पड़ा. ये रंगीन बैट बनाने वाली पहली कंपनी है. ग्रे निकोलस वाइपर बल्ला अपनी बेहतरीन गुणवत्ता के लिए मशहूर है.

From around the web