कौन बना था पहला थर्ड अंपायर और किस बल्लेबाज को बनाया था अपना शिकार, भारत और दक्षिण अफ्रीका मैच में......

कौन बना था पहला थर्ड अंपायर और किस बल्लेबाज को बनाया था अपना शिकार, भारत और दक्षिण अफ्रीका मैच में......
 
कौन बना था पहला थर्ड अंपायर और किस बल्लेबाज को बनाया था अपना शिकार, भारत और दक्षिण अफ्रीका मैच में......

क्रिकेट के खेल में जितनी महत्वपूर्ण भूमिका क्रिकेटरों की होती है, उतनी ही अंपायर की भी होती है. अब तो थर्ड अंपायर की भी भूमिका बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण हो गई है. कई बार जब मैदानी अंपायरों के फैसले गलत होते हैं और खिलाड़ी शिकायत करते हैं तो मैच का फैसला थर्ड अंपायर को सौंपा जाता है. थर्ड अंपायर टीवी रीप्ले के आधार पर फैसला करते हैं. इससे अब क्रिकेट के खेल में पारदर्शिता आने लगी है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि थर्ड अंपायर का पहला शिकार कौन बना था. 

कौन बना था पहला थर्ड अंपायर और किस बल्लेबाज को बनाया था अपना शिकार, भारत और दक्षिण अफ्रीका मैच में......

पिछले 145 सालों से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला जा रहा है. लेकिन थर्ड अंपायर की आधारशिला लगभग दो दशक पहले रखी गई थी. 1992 में टीवी अंपायरिंग की शुरुआत हुई थी. क्या आप जानते हैं कि थर्ड अंपायर ने पहली बार किस बल्लेबाज को आउट दिया था. थर्ड अंपायर श्रीलंका के क्रिकेटर महिन्द्रा विजेसिंघे  के मन की उपज थी.

1992 में भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले गए टेस्ट मैच में पहली बार थर्ड अंपायर को आजमाया गया. उस समय थर्ड अंपायर के रूप में कार्ल लिटनबर्ग ने यह जिम्मेदारी निभाई थी. भारत की टीम जब बल्लेबाजी करने उतरी तो सचिन तेंदुलकर और रवि शास्त्री क्रीज पर मौजूद थे. सचिन 11 रन बनाकर खेल रहे थे और रन लेने के चक्कर में वह रन आउट हो गए. तब फील्ड अंपायरों ने फैसला थर्ड अंपायर को रेफर कर दिया और थर्ड अंपायर ने सचिन को रन आउट करार दिया. इस तरह थर्ड अंपायर का पहला शिकार भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर बने.

From around the web