बहुत ही अंधविश्वासी है भारतीय टीम के लिए ये क्रिकेटर, सचिन तेंदुलकर से लेकर विराट तक का नाम है शामिल

बहुत ही अंधविश्वासी है भारतीय टीम के लिए ये क्रिकेटर, सचिन तेंदुलकर से लेकर विराट तक का नाम है शामिल
 
बहुत ही अंधविश्वासी है भारतीय टीम के लिए ये क्रिकेटर, सचिन तेंदुलकर से लेकर विराट तक का नाम है शामिल

क्या आपने कभी सोचा है कि कोई खिलाड़ी भी अंधविश्वासी हो सकता है. लेकिन यह बिल्कुल सच है. आज आप जिन दिग्गज क्रिकेटरों की लाजवाब बल्लेबाजी और शानदार गेंदबाजी के दीवाने हैं, वह भी बड़े अंधविश्वासी रहे. विश्व क्रिकेट में कई ऐसे खिलाड़ी रहे जिन्होंने अंधविश्वास को अब अपनाते हुए अपने करियर में काफी सफलता हासिल की. आज हम आपको उन्ही खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं.

बहुत ही अंधविश्वासी है भारतीय टीम के लिए ये क्रिकेटर, सचिन तेंदुलकर से लेकर विराट तक का नाम है शामिल

सचिन तेंदुलकर

भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के नाम टेस्ट और वनडे में एक से बढ़कर एक रिकॉर्ड दर्ज है. सचिन तेंदुलकर एक बड़ा अंधविश्वास भी अपने साथ रखते थे. वो हमेशा अपने बाएं पैर में पहले पैड पहनते थे, जिसे वो लकी मानते थे. 2011 के विश्व कप में वो पूरे सीजन पुराने बैट को ही ठीक करवाकर खेले थे.

सौरव गांगुली

भारतीय टीम के महान कप्तान रहे सौरव गांगुली ने अपने करियर में कई रिकॉर्ड बनाए. गांगुली भी अपने करियर में टोटकेबाजी करते थे. गांगुली खेलते समय अपनी जेब में अपने गुरुजी की तस्वीर रखा करते थे, जिसे वह अपने लिए लकी मानते थे.

राहुल द्रविड़

भारत के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर राहुल द्रविड़ का वनडे करियर बहुत ही शानदार रहा. राहुल द्रविड़ ने भी अपने करियर में एक टोटके का प्रयोग किया. राहुल द्रविड़ अंधविश्वास को मानते थे. जब भी द्रविड़ को टेस्ट मैच में नया कपड़ा पहनना हो या बल्लेबाजी के लिए तैयार होते समय दाएं पांव पर पैड पहले बांधना ना हो तो. वह किसी भी सीरीज की शुरुआत में नए बल्ले का इस्तेमाल नहीं करते थे और ऐसा उन्होंने अपने पूरे करियर के दौरान किया.

विराट कोहली

भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली आज किसी पहचान के मोहताज नहीं है. विराट कोहली को क्रिकेट जगत का सबसे बड़ा बल्लेबाज माना जाता है. लेकिन आपको जानकर काफी हैरानी होगी कि कोहली भी अपने साथ एक अंधविश्वास को लेकर चलते थे. जब विराट कोहली ने शुरुआत में रन बनाए तो वह ग्लव्स को बार-बार पहनते थे. वो पुराने ग्लव्स को काफी लकी मानते थे. हालांकि पिछले कुछ साल से उन्होंने इस टोटके को बंद कर दिया है. क्योंकि धोनी ने उन्हें नए ग्लव्स मजबूर कर दिया था.

महेंद्र सिंह धोनी

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की गिनती विश्व के सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर और फिनिशिरों में की जाती है. महेंद्र सिंह धोनी ने भी एक टोटके को अपने पूरे करियर के दौरान साथ रखा. धोनी अपनी जन्मतारीख सात नंबर को लकी मानते हैं और वो उसे कभी नहीं छोड़ना चाहते. धोनी 7 नंबर की जर्सी पहनते थे और अपने दूसरे कामों में भी सात नंबर को काफी खास मानते थे.

From around the web