ये हैं वो 5 भाग्यशाली क्रिकेटर, जिन्हें डेब्यू मैच में ही मिल गई कप्तानी

ये हैं वो 5 भाग्यशाली क्रिकेटर, जिन्हें डेब्यू मैच में ही मिल गई कप्तानी
TheDesiawaaz Desk 
ये हैं वो 5 भाग्यशाली क्रिकेटर, जिन्हें डेब्यू मैच में ही मिल गई कप्तानी

अपने देश के लिए डेब्यू करना हर क्रिकेटर का सपना होता है. लेकिन अगर डेब्यू मैच में ही खिलाड़ी को कप्तानी मिल जाए तो यह सोने पर सुहागा होगा. बहुत कम ही ऐसे क्रिकेटर हुए हैं, जिन्हें अपने डेब्यू मैच में ही कप्तानी मिल गई. आज हम आपको ऐसे ही पांच क्रिकेटरों के बारे में बता रहे हैं. 

ये हैं वो 5 भाग्यशाली क्रिकेटर, जिन्हें डेब्यू मैच में ही मिल गई कप्तानी

सीके नायडू 

सीके नायडू ने 1932 में इंग्लैंड के विरुद्ध टेस्ट डेब्यू किया था. उस मैच में उन्हें कप्तानी करने का मौका भी मिला था. हालांकि वह बस चार ही टेस्ट मैचों में भारतीय टीम की कप्तानी कर सके, जिसमें से उन्हें तीन मैचों में हार का सामना करना पड़ा.

महाराज कुमार ऑफ विजयनगरम 

महाराज कुमार ऑफ विजयनगरम नायडू के बाद भारतीय टीम की कप्तानी करने वाले दूसरे खिलाड़ी थे. 1936 में इंग्लैंड के विरुद्ध खेली गई टेस्ट सीरीज में उन्हें कप्तानी करने का मौका मिला था. इसी दौरान उन्होंने अपना टेस्ट डेब्यू किया था.

इफ्तिखार अली खान पटौदी 

इफ्तिखार अली खान पटौदी ने 1996 में इंग्लैंड के विरुद्ध टेस्ट डेब्यू किया था और अपने डेब्यू टेस्ट मैच में ही उन्होंने कप्तानी भी की थी. 

अजीत वाडेकर 

अजीत वाडेकर को 1932 में भारतीय टेस्ट टीम में डेब्यू का मौका मिला. उन्होंने वनडे डेब्यू 1974 में किया था और उस मुकाबले में उन्हें वनडे टीम की कप्तानी करने का मौका भी मिल गया.

वीरेंद्र सहवाग

वीरेंद्र सहवाग भारतीय टीम के पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज हैं, जिन्होंने 2006 में दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध T20 डेब्यू किया था और उस मुकाबले में उन्होंने भारतीय टीम की कप्तानी भी की थी और जीत भी दिलाई थी.

From around the web