वो बदनसीब भारतीय क्रिकेटर, जिनका एक मैच के बाद ही खत्म हो गया कप्तानी करियर

वो बदनसीब भारतीय क्रिकेटर, जिनका एक मैच के बाद ही खत्म हो गया कप्तानी करियर
 
वो बदनसीब भारतीय क्रिकेटर, जिनका एक मैच के बाद ही खत्म हो गया कप्तानी करियर

भारतीय क्रिकेट का इतिहास बहुत ही पुराना और शानदार रहा है. अब तक टेस्ट क्रिकेट में भारतीय टीम की 35 खिलाड़ी कप्तानी कर चुके हैं. लेकिन इनमें से कुछ टेस्ट कप्तान ऐसे रहे, जिन्हें केवल एक मैच के बाद ही कप्तानी छोड़नी पड़ी और इन खिलाड़ियों के नाम उन बदनसीब कप्तानों की लिस्ट में शामिल हो गए, जिनका कप्तानी करियर एक मैच के बाद ही खत्म हो गया.

वो बदनसीब भारतीय क्रिकेटर, जिनका एक मैच के बाद ही खत्म हो गया कप्तानी करियर

पंकज रॉय 

पंकज रॉय को 1959 में इंग्लैंड दौरे के दौरान दूसरे टेस्ट मैच के लिए टीम इंडिया का कप्तान बनाया गया था. लेकिन उस मुकाबले में भारतीय टीम 8 विकेट से हार गई थी. इस मैच के बाद कभी पंकज रॉय को टीम इंडिया की कप्तानी करने का मौका नहीं मिला.

रवि शास्त्री 

रवि शास्त्री को जनवरी, 1988 में चेन्नई में खेले गए टेस्ट मैच में कप्तानी करने का मौका मिला था. लेकिन भारत की वह एक ही टेस्ट मैच में कप्तानी कर पाए. इसके बाद कभी भी उन्हें दोबारा कप्तान बनने का सौभाग्य प्राप्त नहीं हुआ.

हेमू अधिकारी 

हेमू अधिकारी भी सूची में शामिल है जिन्हें 1958-59 में वेस्टइंडीज के विरुद्ध घरेलू टेस्ट सीरीज के दौरान एक मैच में टीम इंडिया की कप्तानी मिली थी. लेकिन इसके बाद उन्हें कभी भारतीय टीम की कैप्टंसी नहीं मिली.

चंदू बोर्डे 

चंदू बोर्डे को 1967-68 के इंग्लैंड दौरे के दौरान एक टेस्ट मैच में भारतीय टीम की कप्तानी का मौका मिला था. यह मैच भारत ने ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध खेला था, जिसमें टीम इंडिया 146 रनों से हार गई थी.

From around the web