भारत के लिए खेलने वाला इकलौता IAS क्रिकेटर, जिसने टीम इंडिया में डेब्यू से पहले ही पास कर ली थी IAS की परीक्षा

भारत के लिए खेलने वाला इकलौता IAS क्रिकेटर, जिसने टीम इंडिया में डेब्यू से पहले ही पास कर ली थी IAS की परीक्षा
TheDesiawaaz Desk 
भारत के लिए खेलने वाला इकलौता IAS क्रिकेटर, जिसने टीम इंडिया में डेब्यू से पहले ही पास कर ली थी IAS की परीक्षा

भारतीय क्रिकेट टीम में एक से बढ़कर एक बेहतरीन खिलाड़ी है, जिनमें से कई खिलाड़ी काफी पढ़े लिखे हैं. हालांकि कई खिलाड़ी बहुत ही कम पढ़े लिखे भी है. आज हम आपको भारत के उस एकमात्र आईएएस क्रिकेटर के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसने डेब्यू मैच में अर्धशतक ठोका. इस क्रिकेटर ने अंतरराष्ट्रीय डेब्यू करने से पहले आईएएस की परीक्षा भी पास की. 

भारत के लिए खेलने वाला इकलौता IAS क्रिकेटर, जिसने टीम इंडिया में डेब्यू से पहले ही पास कर ली थी IAS की परीक्षा

हम बात कर रहे हैं अमय खुरासिया की, जिनका जन्म प्रदेश के जबलपुर में हुआ. वो बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं. ऐसा बताया जाता है कि अमय तेजी से रन बनाने की कला जानते हैं. भारतीय टीम में जगह बनाने से पहले अमय खुरासिया ने आईएएस की परीक्षा पास की और इंडियन कस्टम सेंट्रल एक्साइज में इंस्पेक्टर के पद पर नियुक्त हुए. वो मध्य प्रदेश के लिए 119 फर्स्ट क्लास में खेले. 

अमय खुरासिया ने श्रीलंका के विरुद्ध 1999 में पेप्सी कप से अपने वनडे करियर की शुरुआत की थी. उन्होंने अपने करियर की दूसरी गेंद पर ही चौका लगाया. इस मैच में अमय खुरासिया ने 45 गेंदों में 57 रनों की अर्धशतकीय पारी खेली और वो डेब्यू मैच में भारत की ओर से अर्धशतक लगाने वाले आठवें भारतीय क्रिकेटर बने. पेप्सी कप में शानदार प्रदर्शन के बाद उन्हें विश्वकप टीम में जगह दी गई. लेकिन उन्हें एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला. जिसके बाद वो टीम से भी बाहर हो गए. 

एक बार फिर से अमय खुरासिया ने टीम इंडिया में जगह बनाई. लेकिन इस बार श्रीलंका के खिलाफ उनका बल्ला खामोश रहा और वह दोबारा टीम इंडिया में वापसी नहीं कर सके. टीम इंडिया के लिए अमय खुरासिया ने 12 वनडे मैच खेले. जिनमें से 10 मैच उन्होंने साल 1999 में खेले थे. जब अमय खुरासिया ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लिया, तब उन्होंने माना कि वह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कामयाब नहीं हो पाए. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि जब वह अपने करियर के शीर्ष पर थे तब उन्हें लगातार मौके नहीं मिले. 

From around the web