मैदानी अंपायर को हासिल है कई बड़े अधिकार, क्या जानते हैं आप ?

मैदानी अंपायर को हासिल है कई बड़े अधिकार, क्या जानते हैं आप ?
 
मैदानी अंपायर को हासिल है कई बड़े अधिकार, क्या जानते हैं आप ?

क्रिकेट भारत में सबसे ज्यादा लोकप्रिय खेल है. दिन-प्रतिदिन भारत में क्रिकेट फैंस की संख्या बढ़ती ही जा रही है. आईपीएल लीग के शुरू होने के बाद तो क्रिकेट का रोमांच अपने चरम पर पहुंच गया है. क्रिकेट के लिए कई नियम भी बनाए गए हैं. लेकिन क्रिकेट में मैदान पर अंपायरिंग करने वाले अंपायरों को भी अधिकार प्राप्त हैस जिनके बारे में ज्यादातर फैंस नहीं जानते. 

मैदानी अंपायर को हासिल है कई बड़े अधिकार, क्या जानते हैं आप ?

ये है अंपायरिंग के नियम

  1. मैच से पहले 2 अंपायरयों की नियुक्ति की जाती है, जो एक-एक छोर से पूर्ण निष्पक्षता के साथ नियमों के तहत मैच को नियंत्रण करेंगे. 
  2. प्रत्येक दिन का खेल शुरू होने से कम से कम 45 मिनट पहले अंपायर मैदान पर उपस्थित होने चाहिए और मैदान के कार्यकारी अधिकारी को रिपोर्ट करेंगे. 
  3. किसी भी असाधारण परिस्थिति को छोड़कर मैदानी अंपायर को तब तक नहीं बदला जा सकता जब तक कि वह घायल या बीमार ना हो. 
  4. यदि अंपायर को बदलना जरूरी है तो अंपायर केवल स्ट्राइकर पर ही कार्य करेगा, जब तक कि दोनों कप्तानों की सहमति ना हो कि सब्स्टीट्यूट अंपायर को पूरी जिम्मेदारी दी जाए. कप्तानों के साथ परामर्श भी बहुत ही जरूरी है.
  5. नियम के मुताबिक टॉस से पहले दोनों अंपायर कप्तानों से मिलेंगे. वो इस बात का निर्णय करेंगे कि मैच के दौरान उपयोग की जाने वाली गेंद कौन सी होगी. 
  6. खेलने के घंटे खाने एवं अंतराल का समय और अभी 1 दिन के मैच में चाय के अंतराल के लिए किसी विशेष समय सीमा तय नहीं होगी. इसके बजाय पारियों के बीच अंतराल को लेने की सहमति हो सकती है.
  7. मैच के दौरान कौन सी घड़ी का उपयोग करना है. उसके खराब होने पर किस घड़ी को माना जाएगा. 
  8. खेल के दौरान मैदान की बाउंड्री और बॉल के बाउंड्री पार जाने पर मिलने वाले रन इन सभी का फैसला भी अंपायर करता है. 
  9. कवर्स का उपयोग भी मैदान पर अंपायर ने देखता है. टॉस से पहले और मैच के दौरान अंपायर इस बात की संतुष्टि करते हैं कि विकेट ठीक से सेट किए गए हैं कि सही ढंग से मार्क है या नहीं. 
  10. खेल का मैदान बाउंड्री नियम और अन्य आवश्यकताओं को पूरी करता है या नहीं.
  11. टॉस से पहले और मैच के दौरान अंपायर इस बात की संतुष्टि करते हैं कि मैच का संचालन कड़ाई से नियमों के अनुसार हो रहा है. 
  12. मैच में इस्तेमाल की गई चीजें जैसे- गेंद, बैट, स्टंप,आदि चीजें ठीक है या नहीं. 
  13. कोई भी खिलाड़ी मैच के दौरान स्वीकृत चीजों के अलावा अन्य चीजों का उपयोग ना कर रहा हो. 
  14. विकेटकीपर के ग्लव्स कानून नियमों को पूरा करते हो. 
  15. अंपायर उचित और अनुचित खेल के एकमात्र निर्णायक होंगे.
  16. दोनों टीमों की एक-एक पारी पूरी हो जाने के बाद अंपायर अपना छोर बदल देते हैं. 
  17. जब किसी बात को लेकर विवाद होता है तो हम अंपायर मिलकर अंतिम फैसला करते हैं. अंपायर किसी का भी निर्णय बदल सकते हैं.

From around the web