वो कंगारू गेंदबाज जिसका करियर अपने ही साथी खिलाड़ियों की स्लेजिंग की वजह से हो गया बर्बाद

वो कंगारू गेंदबाज जिसका करियर अपने ही साथी खिलाड़ियों की स्लेजिंग की वजह से हो गया बर्बाद
TheDesiawaaz Desk 
वो कंगारू गेंदबाज जिसका करियर अपने ही साथी खिलाड़ियों की स्लेजिंग की वजह से हो गया बर्बाद

कुछ सालों पहले तक ऑस्ट्रेलिया की टीम अपराजय मानी जाने वाली टीम थी. किसी भी टीम के लिए ऑस्ट्रेलिया को हरा पाना बहुत ही मुश्किल होता था. अपने दौर में ऑस्ट्रेलिया की टीम स्लेजिंग के लिए भी काफी मशहूर रही. ऑस्ट्रेलिया और इंडिया के स्लेजिंग के हजारों किस्से मशहूर है. लेकिन ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी केवल भारतीय खिलाड़ियों की ही नहीं बल्कि अपनी टीम के खिलाड़ियों की भी स्लेजिंग किया करते थे. एक बार तो ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने अपने ही साथी खिलाड़ी की स्लेजिंग की थी, जिस वजह से उसका कैरियर भी बर्बाद हो गया. 

वो कंगारू गेंदबाज जिसका करियर अपने ही साथी खिलाड़ियों की स्लेजिंग की वजह से हो गया बर्बाद

यह बात 1999 की है, जब पाकिस्तान की टीम ने ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया था. दोनों टीमों के बीच पहला टेस्ट मैच ब्रिसबेन में खेला गया था. इस दौरान ऑस्ट्रेलिया की टीम में 2 खिलाड़ियों का डेब्यू हुआ था, उनमें से एक खिलाड़ी थे एडम गिलक्रिस्ट और दूसरे स्कॉट मुलर. लेकिन स्कॉट मुलर के लिए ऑस्ट्रेलिया की टीम में रहा आसान नहीं रही. उनका प्रदर्शन भी कुछ खास नहीं रहा. 

इसके साथ ही मुलर ने टीम के ड्रेसिंग रूम के माहौल और खिलाड़ियों द्वारा किए गए व्यवहार को सही ढंग से नहीं ले पाए. उनकी बीच मैदान पर शेन वॉर्न से कहासुनी हो गई, जो काफी लंबे समय तक ऑस्ट्रेलिया के टीवी चैनलों पर हॉट टॉपिक बना रहा. इस सीरीज का दूसरा मैच मूलर के करियर का आखिरी मैच बना.

सीरीज के दूसरे टेस्ट मैच में मुलर अपनी लाइन से थोड़ा भटक रहे थे. जब मुलर फील्डिंगकर रहे थे तो माइक पर आवाज आई. उनके साथ बाकी सब ने भी सुना. आवाज में कहां गया- he can’t bowl and he can’t throw. ये ना तो गेंद फेंक सकता है और ना ही थ्रो कर सकता है.

ऐसा आरोप लगा कि यह बात शेन वॉर्न ने कही. लेकिन शेन वॉर्न इन सभी आरोपों से साफ इनकार कर दिया. भले ही यह बात किसी ने भी कही हो, लेकिन गलतफहमी के कारण मुलर ने अपना नुकसान कर लिया और उनका करियर खत्म हो गया.

From around the web