वो भारतीय क्रिकेटर जिसने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में खेले 150 से भी ज्यादा मैंच, लेकिन नहीं लगा पाया एक भी छक्का

वो भारतीय क्रिकेटर जिसने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में खेले 150 से भी ज्यादा मैंच, लेकिन नहीं लगा पाया एक भी छक्का
TheDesiawaaz Desk 
वो भारतीय क्रिकेटर जिसने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में खेले 150 से भी ज्यादा मैंच, लेकिन नहीं लगा पाया एक भी छक्का

फटाफट क्रिकेट में बल्लेबाजों के लिए चौके-छक्के मारना बहुत मुश्किल नहीं होता है. आजकल तो बल्लेबाज तेज गति से रन बनाने में विश्वास रखते हैं और खूब बाउंड्री लगाते हैं. लेकिन क्या आप उस भारतीय क्रिकेटर के बारे में जानते हैं जिसने 160 से ज्यादा अंतरराष्ट्रीय मैच खेले. लेकिन फिर भी वह अपने पूरे करियर में एक छक्का नहीं लगा पाया.

वो भारतीय क्रिकेटर जिसने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में खेले 150 से भी ज्यादा मैंच, लेकिन नहीं लगा पाया एक भी छक्का

हम जिस भारतीय क्रिकेटर के बारे में आपको बता रहे हैं वह मनोज प्रभाकर हैं जिनके नाम यह शर्मनाक रिकॉर्ड दर्ज है. 150 से ज्यादा अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने के बावजूद मनोज प्रभाकर कभी गेंद को बाउंड्री के पर पहुंचाने में कामयाब नहीं हो पाए. उन्होंने अपने करियर में शतक भी लगाया. लेकिन वह छक्का नहीं लगा सके.

90 के दशक में मनोज प्रभाकर भारतीय टीम के महत्वपूर्ण खिलाड़ी हुआ करते थे. भारतीय टीम को कई मैचों में उन्होंने जीत दिलाई. उन्होंने 1995-96 के वर्ल्ड कप में एक मैच के दौरान 4 ओवर में 47 रन लुटाए थे. उस मुकाबले में भारतीय टीम हार गई थी, जिसके बाद उन्हें भारतीय टीम से बाहर कर दिया गया और फिर उन्हें कभी भी दोबारा भारतीय टीम में शामिल नहीं किया गया और इस तरह से उनका क्रिकेट करियर खत्म हो गया और उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया.

From around the web