वो एक नो बॉल, जो टीम इंडिया को दे गई जिंदगी भर का जख्म, भारतीय फैंस कभी नहीं भूल पाएंगे ये दर्द

वो एक नो बॉल, जो टीम इंडिया को दे गई जिंदगी भर का जख्म, भारतीय फैंस कभी नहीं भूल पाएंगे ये दर्द
 
वो एक नो बॉल, जो टीम इंडिया को दे गई जिंदगी भर का जख्म, भारतीय फैंस कभी नहीं भूल पाएंगे ये दर्द

भारतीय टीम जब भी पाकिस्तान के खिलाफ मैदान पर उतरती है तो माहौल बिल्कुल जंग जैसा होता है. दोनों टीमों के खिलाड़ी ही नहीं, बल्कि फैंस भी आपस में भिड़ जाते हैं. 5 साल पहले भी भारत और पाकिस्तान के बीच एक ऐसा ही रोमांचक मुकाबला हुआ था और उस समय चैंपियंस ट्रॉफी दांव पर लगी हुई थी. यह मुकाबला 18 जून 2017 को इंग्लैंड के ओवल मैदान पर खेला गया था, जिसमें भारतीय टीम को पाकिस्तान ने पूरे 180 रन से हराया था.

वो एक नो बॉल, जो टीम इंडिया को दे गई जिंदगी भर का जख्म, भारतीय फैंस कभी नहीं भूल पाएंगे ये दर्द

भारतीय टीम यह हार जीवन भर नहीं भूलेगी. उस मैच में विराट कोहली टीम इंडिया के कप्तान थे. उन्होंने फाइनल मुकाबले में टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का निर्णय किया, जो उन्हें बहुत भारी पड़ा. पहले बल्लेबाजी करते हुए पाकिस्तान की टीम ने उस मुकाबले में 50 ओवर में 4 विकेट खोकर 368 रन बना लिए थे. उस मुकाबले में भारतीय टीम की बल्लेबाजी भले ही खराब रही.

लेकिन हार के लिए सबसे ज्यादा जिम्मेदार तो जसप्रीत बुमराह की उस नो बॉल को माना जाता है, जिस पर फखर जमां को जीवनदान मिला था. जीवनदान मिलने के बाद फखर जमां ने ताबड़तोड़ पारी खेली और भारतीय गेंदबाजों के छक्के छुड़ा दिए. फखर ज़मां ने उस मैच में 106 गेंदों में 114 रन बनाए थे.

भारतीय टीम जब लक्ष्य का पीछा करने उतरी तो रोहित शर्मा पहले ही ओवर में आउट हो गए. विराट कोहली भी 5 रन बना सके और धवन भी जल्दी अपना विकेट गंवा बैठे. उस मुकाबले में युवराज सिंह और महेंद्र सिंह धोनी भी कुछ नहीं कर पाए थे. केवल हार्दिक पांड्या ने 43 गेंदों में 76 रन की पारी खेली थी. भारतीय टीम पूरे ओवर भी नहीं खेल पाई और 30.3 ओवर में 158 के स्कोर पर ढेर हो गई.

From around the web