पिता से किए हुए वादे के कारण सचिन तेंदुलकर ने जिंदगी में कभी नहीं किया ये काम, जानकर आपको भी होगा गर्व

पिता से किए हुए वादे के कारण सचिन तेंदुलकर ने जिंदगी में कभी नहीं किया ये काम, जानकर आपको भी होगा गर्व
 
पिता से किए हुए वादे के कारण सचिन तेंदुलकर ने जिंदगी में कभी नहीं किया ये काम, जानकर आपको भी होगा गर्व

सचिन तेंदुलकर भारत के महानतम बल्लेबाज हैं, जिन्होंने अपने क्रिकेट करियर में 34,000 से ज्यादा रन बनाए और 100 शतक लगाए. सचिन को क्रिकेट जगत में खूब सम्मान मिला. सचिन ने अपने करियर में 200 टेस्ट मैच और 463 वनडे मैच खेले. सचिन तेंदुलकर को हमेशा इस बात का मलाल रहेगा कि वह कभी सुनील गावस्कर और विवियन रिचर्ड्स के साथ क्रिकेट नहीं खेल पाए. विवियन रिचर्ड्स 1991 में रिटायर हो गए थे.

पिता से किए हुए वादे के कारण सचिन तेंदुलकर ने जिंदगी में कभी नहीं किया ये काम, जानकर आपको भी होगा गर्व


सचिन तेंदुलकर ने अपने क्रिकेट करियर में कभी भी शराब का प्रमोशन नहीं किया. उन्होंने खुद एक इंटरव्यू में इस बात का खुलासा किया था कि उन्होंने अपने पिता को एक वचन दिया था. सचिन ने इंटरव्यू में कहा था- मैंने अपने पिता से वादा किया था कि मैं कभी भी तंबाकू उत्पादों या अल्कोहल का विज्ञापन नहीं करूंगा. मेरे पिता ने मुझसे कहा था कि मैं एक रोल मॉडल हूं और बहुत सारे लोग मुझे फॉलो करेंगे. इसी वजह से मैंने कभी भी तंबाकू उत्पादों या अल्कोहल का समर्थन नहीं किया.

सचिन ने बताया कि 1990 के दशक में मेरे बल्ले पर कोई स्टिकर नहीं था. मेरे पास अनुबंध नहीं था. टीम में हर कोई विशेष रूप से विल्स और फोर स्क्वॉयर का प्रमोशन कर रहे थे. लेकिन मैंने अपने पिता को वादा किया हुआ था. इस वजह से मैंने उन ब्रांड्स का समर्थन नहीं किया.

From around the web