ऋषभ पंत की फूटी किस्मत, खुद को साबित करने का था आखिरी मौका, लेकिन बारिश बन गई विलेन

ऋषभ पंत की फूटी किस्मत, खुद को साबित करने का था आखिरी मौका, लेकिन बारिश बन गई विलेन
 
ऋषभ पंत की फूटी किस्मत, खुद को साबित करने का था आखिरी मौका, लेकिन बारिश बन गई विलेन

ऋषभ पंत की कप्तानी में भारतीय टीम ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांच मैचों की T20 सीरीज खेली, जो 2-2 पर समाप्त हुई. सीरीज का पांचवां और आखिरी मुकाबला बेंगलुरू के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला गया जाना था, जो बारिश के चलते रद्द हो गया. भारतीय टीम इस सीरीज के शुरुआती दो मैच गंवा चुकी थी. लेकिन तीसरे और चौथे T20 में टीम इंडिया ने शानदार वापसी की. 

ऋषभ पंत की फूटी किस्मत, खुद को साबित करने का था आखिरी मौका, लेकिन बारिश बन गई विलेन

यह बतौर कप्तान ऋषभ पंत की पहली T20 सीरीज थी, जिसमें उनके पास खुद को साबित करने का मौका था. लेकिन ऐसा नहीं हो पाया. जब शुरुआती दो टी20 मैचों में टीम इंडिया हार गई तो ऋषभ पंत की कप्तानी पर सवाल उठने लगे. लेकिन अगर ऋषभ पंत पांचवा T20 जीत लेते तो इतिहास रच देते और इसी के साथ घरेलू मैदान पर साउथ अफ्रीका से T20 सीरीज जीतने वाले पहले भारतीय कप्तान बन जाते. लेकिन बारिश विलेन बन गई.

ऋषभ पंत ने सीरीज खत्म होने के बाद कहा कि हमें इस सीरीज से काफी कुछ सकारात्मक मिला. 0-2 से पिछड़ने के बाद जिस तरह से हमने बेहतर खेल दिखाया, वह बहुत सकारात्मक था. हम अच्छी स्थिति में है, क्योंकि हम मैच जीतने के लिए अलग-अलग तरीके खोज रहे हैं. ऋषभ पंत सीरीज के सभी मैचों में टॉस हारे, जिसको लेकर उन्होंने कहा कि यह मेरे नियंत्रण में नहीं है. इसलिए मैं इसके बारे में ज्यादा नहीं सोच रहा हूं. मैं एक कप्तान और खिलाड़ी के रूप में अपना 100% दे रहा हूं. अब यह आपको तय करना है कि मैं एक खिलाड़ी और कप्तान के रूप में कैसा रहा.

From around the web