क्रिकेटर बनने के लिए छोड़ा घर, गेंदबाज के रूप में शुरू किया करियर, लेकिन आज है दुनिया का सबसे विस्फोटक बल्लेबाज

क्रिकेटर बनने के लिए छोड़ा घर, गेंदबाज के रूप में शुरू किया करियर, लेकिन आज है दुनिया का सबसे विस्फोटक बल्लेबाज
 
क्रिकेटर बनने के लिए छोड़ा घर, गेंदबाज के रूप में शुरू किया करियर, लेकिन आज है दुनिया का सबसे विस्फोटक बल्लेबाज

ये कहानी है भारतीय क्रिकेट टीम के उस विस्फोटक बल्लेबाज की, जिसने अपना करियर तो गेंदबाज के रूप में शुरू किया था. लेकिन वह दुनिया का सबसे विस्फोटक बल्लेबाज बन गया. हम बात कर रहे हैं भारतीय क्रिकेट टीम के मौजूदा कप्तान रोहित शर्मा की, जो आईपीएल के सबसे सफल कप्तान भी हैं. रोहित शर्मा ने आईपीएल में मुंबई इंडियंस को बतौर कप्तान 5 बार खिताब दिलाया है. अंतरराष्ट्रीय वनडे क्रिकेट में रोहित शर्मा के दोहरे शतक लगा चुके हैं.

क्रिकेटर बनने के लिए छोड़ा घर, गेंदबाज के रूप में शुरू किया करियर, लेकिन आज है दुनिया का सबसे विस्फोटक बल्लेबाज

रोहित आज अपना 35वां जन्मदिन मना रहे हैं. आज हम आपको उनके संघर्ष की कहानी के बारे में बताएंगे. रोहित के पिता ट्रांसपोर्ट फर्म में केयरटेकर का काम करते थे. रोहित के पिता की कमाई बहुत कम थी, जिस वजह से वह बोरीवली में अपने दादा और अंकल के साथ रहते थे और एक हफ्ते में एक दिन डोंबिवली अपने पिता से मिलने जाते थे.

रोहित शर्मा ने अपना क्रिकेट करियर बतौर ऑफ स्पिनर पर शुरू किया था. लेकिन उनके कोच दिनेश लाड ने उन्हें आठवें नंबर की जगह ओपनर के रूप में बल्लेबाजी के लिए भेजा और हैरिस शील्ड टूर्नामेंट में रोहित ने बतौर ओपनर शानदार प्रदर्शन करते हुए शतक जड़ दिया और अपने कोच के फैसले को सही साबित किया.

रोहित ने जून 2007 में आयरलैंड के विरुद्ध अपना पहला अंतरराष्ट्रीय वनडे मैच खेला था. इसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा. हालांकि रोहित को 2013 तक बहुत ज्यादा सफलता नहीं मिली. जब धोनी ने 2013 में रोहित शर्मा को ओपनर बल्लेबाज के रूप में मैदान पर भेजा तो उनकी किस्मत चमक गई. रोहित शर्मा आज दुनिया के सबसे विस्फोटक बल्लेबाज बन चुके हैं. उन्होंने बल्लेबाजी में कई ऐसे रिकॉर्ड बनाए हैं, जो सालों तक नहीं टूटेंगे.

From around the web