बहुत ही गरीबी में बीता था हार्दिक पांड्या का बचपन, कठिनाइयों को पार करते हुए इस तरह बने देश के बड़े स्टार क्रिकेटर

बहुत ही गरीबी में बीता था हार्दिक पांड्या का बचपन, कठिनाइयों को पार करते हुए इस तरह बने देश के बड़े स्टार क्रिकेटर
TheDesiawaaz Desk 
बहुत ही गरीबी में बीता था हार्दिक पांड्या का बचपन, कठिनाइयों को पार करते हुए इस तरह बने देश के बड़े स्टार क्रिकेटर

भारत के स्टार ऑलराउंडर खिलाड़ी हार्दिक पांड्या अपनी बेहतरीन बल्लेबाजी और गेंदबाजी के लिए जाने जाते हैं. हार्दिक पांड्या अपने शानदार प्रदर्शन से विरोधी टीम को परास्त करने की ताकत रखते हैं. हार्दिक पांड्या की बल्लेबाजी और गेंदबाजी देकर विरोधी टीम के खिलाड़ी भी घबराने लगते हैं. हार्दिक पांड्या के खेलने का स्टाइल ही बिल्कुल अलग है. उन्होंने बहुत ही कम समय में अपनी एक अलग पहचान बना ली है. 

बहुत ही गरीबी में बीता था हार्दिक पांड्या का बचपन, कठिनाइयों को पार करते हुए इस तरह बने देश के बड़े स्टार क्रिकेटर

हार्दिक पांड्या के पास आज किसी भी चीज की कोई कमी नहीं है. लेकिन एक समय ऐसा भी था जब हार्दिक पांड्या की आर्थिक स्थिति बहुत ही कमजोर थी. लेकिन उन्होंने संघर्ष और मेहनत के दम पर अपने सपनों को पूरा किया और टीम इंडिया में भी जगह बनाई. आज के समय में हार्दिक पांड्या और क्रुणाल पांड्या की लाइफ स्टाइल महंगे स्टार्स जैसी है. 

ऐसा बताया जाता है कि बचपन में इनके परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर थी. घर की सीमित आमदनी में बच्चों के सपने पूरा कर पाना संभव नहीं था. हालांकि इनके पिता ने दोनों भाइयों को कभी भी सपने पूरे करने से नहीं रोका. हार्दिक की लगन को देखते हुए पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज किरण मोरे ने 3 सालों तक उन्हें अपनी क्रिकेट एकेडमी में उनको फ्री में ट्रेनिंग दी. हार्दिक के पिता हिमांशु पांडे अपने दोनों बेटों को भारत के लिए खेलते हुए देखना चाहते थे. 

हार्दिक के पिता को भी क्रिकेट से काफी लगाव था. उन्होंने अपने बच्चों के सपनों को पूरा करने के लिए कई चुनौतियों का सामना किया और सारा काम-धंधा छोड़कर बेटों के करियर के लिए सूरत से बड़ौदा जाकर रहने लगे. हार्दिक के माता-पिता की मेहनत भी रंग लाई. हार्दिक को उनकी मेहनत का फल मिला. आज दोनों भाई भारतीय टीम के स्टार है. हार्दिक कि जिंदगी में अब किसी चीज की कोई कमी नहीं है.

From around the web