पिता की जिद ने इस खिलाड़ी को बनाया था क्रिकेटर, IPL के पैसों से छुड़वाया था घर का गिरवी रखा हुआ सामान

पिता की जिद ने इस खिलाड़ी को बनाया था क्रिकेटर, IPL के पैसों से छुड़वाया था घर का गिरवी रखा हुआ सामान
 
पिता की जिद ने इस खिलाड़ी को बनाया था क्रिकेटर, IPL के पैसों से छुड़वाया था घर का गिरवी रखा हुआ सामान

क्रिकेट जगत में एक से बढ़कर एक बेहतरीन खिलाड़ी है, जिनकी दुनिया दीवानी है. इन खिलाड़ियों ने अपने शानदार खेल के द्वारा सभी के दिलों में जगह बनाई हुई है. आज हम आपको एक ऐसे ही क्रिकेटर के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे पिता की जिद ने क्रिकेटर बनाया. इतना ही नहीं इस खिलाड़ी ने आईपीएल के पैसों से अपने गिरवी सामान को छुड़वाया था. 

पिता की जिद ने इस खिलाड़ी को बनाया था क्रिकेटर, IPL के पैसों से छुड़वाया था घर का गिरवी रखा हुआ सामान

हम बात कर रहे हैं साउथ अफ्रीका के मशहूर ऑलराउंडर खिलाड़ी क्रिस मॉरिस की. जिन्होंने 34 साल की उम्र में क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले लिया है. आईपीएल 2021 की नीलामी में राजस्थान रॉयल्स की टीम ने क्रिस मॉरिस को 16.25 करोड रुपए में खरीदा था और वो इस सीजन सबसे महंगे बिकने वाले खिलाड़ी थे. क्रिस मॉरिस ने अपने बल्ले और गेंद से शानदार खेल दिखाया और कई मौकों पर टीम को जीत दिलाई. लेकिन क्रिस मॉरिस का जीवन काफी संघर्ष भरा रहा. उनसे जुड़ी बातें कम ही लोगों को पता होगी.

क्रिस मॉरिस के पिता अपने बेटे को क्रिकेटर बनाना चाहते थे, जिस कारण उन्होंने अपना सामान भी गिरवी रख दिया था. उस सामान से उनको जो पैसे मिले उसी से क्रिस मॉरिस के क्रिकेट और पढ़ाई के पैसों का इंतजाम किया गया. जब मॉरिस पहली बार आईपीएल 2013 में नीलामी में उतरे थे तो उन्हें सीएसके ने चार करोड़ 20 लाख रुपए में खरीदा था. 

आईपीएल के पैसों से सबसे पहले क्रिस मॉरिस ने पिता के द्वारा गिरवी रखे गए सामान को छुड़वाया था. क्रिस मॉरिस के पिता विली लोरी भी क्रिकेटर थे, जो घरेलू क्रिकेट खेला करते थे. लेकिन उन्हें कभी भी दक्षिण अफ्रीका की टीम में खेलने का मौका नहीं मिल पाया. कई बार क्रिस मॉरिस इस बात का खुलासा भी कर चुके हैं कि यदि उनके पिता ना होते तो वो कभी क्रिकेटर नहीं बन पाते.

From around the web