बेटे को क्रिकेटर बनाने के लिए पिता के पास नहीं थे पैसे, अनजान शख्स की मदद से बना क्रिकेटर, अब करेगा दुनिया की सबसे खतरनाक टीम की कप्तानी

बेटे को क्रिकेटर बनाने के लिए पिता के पास नहीं थे पैसे, अनजान शख्स की मदद से बना क्रिकेटर, अब करेगा दुनिया की सबसे खतरनाक टीम की कप्तानी
 
बेटे को क्रिकेटर बनाने के लिए पिता के पास नहीं थे पैसे, अनजान शख्स की मदद से बना क्रिकेटर, अब करेगा दुनिया की सबसे खतरनाक टीम की कप्तानी

हाल ही में इंग्लैंड क्रिकेट टीम में काफी उथल-पुथल मच गई थी. इंग्लैंड के नियमित कप्तान जो रूट ने इस्तीफा दे दिया. जिसके बाद इंग्लैंड एंड वेल्स ने गुरुवार को ऑलराउंडर क्रिकेटर बेन स्टोक्स को टेस्ट टीम का नया कप्तान नियुक्त किया है. बेन स्टोक्स को पहले से ही इस पद के लिए प्रबल दावेदार माना जा रहा था. वो दुनिया के महान खिलाड़ियों में से एक हैं और लोग उनकी प्रतिभा के कायल हैं. 

बेटे को क्रिकेटर बनाने के लिए पिता के पास नहीं थे पैसे, अनजान शख्स की मदद से बना क्रिकेटर, अब करेगा दुनिया की सबसे खतरनाक टीम की कप्तानी

ऐसा ही एक अनजान व्यक्ति है जो कि बेन स्टोक्स का मुरीद है. बेन स्टोक्स को यहां तक पहुंचाने में उसका बहुत बड़ा योगदान रहा है. बीबीसी की खबर के मुताबिक, बेन स्टोक्स जब 13 साल के थे तब उनके पिता के पास पैसे नहीं थे. उनका परिवार आर्थिक तंगी से गुजर रहा था. उनके पिता की नौकरी चली गई थी. लेकिन एक अनजान व्यक्ति ने बेन स्टोक्स को देखा और उनकी कोचिंग का सारा खर्चा उठाया.

टेलीग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक, कोकरमाउथ क्रिकेट क्लब में युवा खिलाड़ियों को कोचिंग देने वाले जॉन गिब्सन ने बताया था कि इस अनजान शख्स के बारे में सिर्फ स्टोक्स और उनकी पत्नी क्लारे रेटक्लिफ को पता है. अब बेन स्टोक्स दुनिया की सबसे खतरनाक क्रिकेट टीम के  81वें कप्तान होंगे. कप्तान बनने के बाद बेन स्टोक्स ने कहा कि वह इस बात से बहुत ही सम्मानित महसूस कर रहे हैं.

From around the web