जो सचिन तेंदुलकर के साथ किया था, वही ऋषभ पंत के साथ करो तभी टीम इंडिया को मिलेगी सफलता, पूर्व कोच का बड़ा बयान

जो सचिन तेंदुलकर के साथ किया था, वही ऋषभ पंत के साथ करो तभी टीम इंडिया को मिलेगी सफलता, पूर्व कोच का बड़ा बयान
 
जो सचिन तेंदुलकर के साथ किया था, वही ऋषभ पंत के साथ करो तभी टीम इंडिया को मिलेगी सफलता, पूर्व कोच का बड़ा बयान

पूर्व भारतीय बल्लेबाजी कोच संजय बांगर का कहना है कि ऋषभ पंत को T20 इंटरनेशनल क्रिकेट में ओपनर के रूप में आजमाया जा सकता है. इसी तरह के कदम से सचिन तेंदुलकर को सफलता मिली थी. अब वही पंत के साथ करने की जरूरत है. संजय बांगड़ ने ऋषभ पंत को सपोर्ट करने की बात कही. उन्होंने यह भी कहा कि टीम प्रबंधन को विकेटकीपर बल्लेबाज के लिए नई चीजें आजमानी चाहिए, ताकि टीम इंडिया को उनकी मैच विजयी क्षमता का फायदा हो सके. 

जो सचिन तेंदुलकर के साथ किया था, वही ऋषभ पंत के साथ करो तभी टीम इंडिया को मिलेगी सफलता, पूर्व कोच का बड़ा बयान

हाल ही में ऋषभ पंत ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज में कार्यवाहक कप्तान की भूमिका निभाई. उनके प्रदर्शन के चलते उनकी जगह को लेकर ही सवाल उठने लगे हैं. ऋषभ पंत दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांच पारियों में केवल 58 रन बना सके. बीच के ओवरों में वह बड़े शॉट नहीं खेल पाए जिस वजह से आलोचकों के निशाने पर आ गए. ऋषभ पंत बार-बार एक ही तरह से अपना विकेट गंवा रहे थे, जिस वजह से उनकी आलोचना हो रही है.

निचले क्रम में हार्दिक पांड्या और दिनेश कार्तिक ने तो बेहतरीन खेल दिखाया. लेकिन पंत नंबर चार पर कुछ खास नहीं कर पाए. स्टार स्पोर्ट्स से बातचीत में संजय बांगर ने कहा कि वनडे क्रिकेट में सचिन तेंदुलकर ने ओपनिंग करके निरंतरता खोजी थी. अब पंत को भी छोटे प्रारूप में ओपनिंग का मौका मिलना चाहिए तो हो सकता है कि वो वैसा ही कमाल करे, जो एडम गिलक्रिस्ट ने ऑस्ट्रेलिया के लिए किया था. मैं 3 साल से इस बारे में सोच रहा हूं. आप सचिन को देखें. उन्होंने अपनी 75वीं या 76वीं पारी में पहला शतक लगाया था. न्यूजीलैंड के खिलाफ ओपनिंग करने उतरे थे तब. इससे पहले तो वह मिडिल ऑर्डर में बल्लेबाजी करते थे.

From around the web