धोनी-कोहली ने मिलकर बर्बाद कर दिया इन 4 खिलाड़ियों का करियर, आज किसी को नाम तक नहीं है याद

धोनी-कोहली ने मिलकर बर्बाद कर दिया इन 4 खिलाड़ियों का करियर, आज किसी को नाम तक नहीं है याद
TheDesiawaaz Desk 
धोनी-कोहली ने मिलकर बर्बाद कर दिया इन 4 खिलाड़ियों का करियर, आज किसी को नाम तक नहीं है याद

पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली ने भारतीय क्रिकेट इतिहास को कई ऐतिहासिक पल दिए. जब इन दोनों खिलाड़ियों ने टीम इंडिया की कमान संभाली थी, तब कई चुनौतियां सामने थी. इन दोनों कप्तानों ने कई युवा खिलाड़ियों को मौका दिया और भविष्य के लिए टीम इंडिया का निर्माण किया. लेकिन अपनी कप्तानी के दौरान विराट कोहली और धोनी ने कुछ खिलाड़ियों को हमेशा ही नजरअंदाज किया. इन दोनों की अलग सोच के चलते इन खिलाड़ियों का करियर बर्बाद हो गया. आइए जानते हैं उनके बारे में- 

धोनी-कोहली ने मिलकर बर्बाद कर दिया इन 4 खिलाड़ियों का करियर, आज किसी को नाम तक नहीं है याद

अंबाती रायडू 

2019 के विश्व कप में अंबाती रायडू के भारतीय टीम में चुने जाने की पूरी उम्मीद थी. लेकिन ऐसा नहीं हो सका. वर्ल्ड कप के दौरान ही अंबाती रायडू ने संन्यास की घोषणा कर दी. वर्ल्ड कप के दौरान ही लगातार दो बार अंबाती रायडू को नजरअंदाज किया गया. 2019 के वर्ल्ड कप में बतौर कवर प्लेयर अंबाती रायडू को चुना गया था. लेकिन पहले धवल के रिप्लेसमेंट के तौर पर ऋषभ पंत को इंग्लैंड बुलाया गया. जिसके बाद विजय शंकर के चोटिल होने के बाद मयंक अग्रवाल को बुलावा भेजा गया. लेकिन अंबाती रायडू को एक भी मौका नहीं दिया गया. लगातार विराट कोहली ने उनको नजरअंदाज किया.

अमित मिश्रा 

एक समय भारतीय क्रिकेट में अमित मिश्रा का नाम काफी चर्चा में रहता था. महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में अमित मिश्रा को ज्यादा मौके नहीं मिले. जिसके वह हकदार थे. अमित मिश्रा ने भारत की ओर से तीनों फॉर्मेट में गेंदबाजी की. धोनी के कप्तान रहते हुए भी रहते हुए अमित मिश्रा को फॉर्म में होने के बाद भी टीम से बाहर किया जाता रहा.

मनोज तिवारी 

मनोज तिवारी का नाम सुनते ही आपको भोजपुरी अभिनेता की याद आती होगी. लेकिन भारतीय क्रिकेट में भी एक मनोज तिवारी नाम का क्रिकेट खेल चुका है. मनोज तिवारी ने 2008 में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध वनडे डेब्यू किया था. लेकिन उन्हें भारतीय टीम में ज्यादा मौके नहीं दिए गए. 

वरुण आरोन

भारतीय तेज गेंदबाज वरुण आरोन का क्रिकेट करियर भी खत्म होने के कगार पर है. वरुण आरोन ने अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर टीम इंडिया में जगह बनाई थी. लेकिन कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने उन्हें पर्याप्त मौके नहीं दिए. आखरी बार 2015 में वरुण आरोन को टीम इंडिया के लिए खेलते हुए देखा गया था. उसके बाद से अब तक उन्हें भारतीय टीम में मौका नहीं मिला है.

From around the web