Loading...

NPS से जुड़े सभी सवालों का यहां मिलेगा जवाब, बुढ़ापे में 20,000 की सैलरी का करें इंतजाम

0 11

नेशनल पेंशन सिस्टम एक ऐसी योजना है जिसके जरिए आप बुढ़ापे में आर्थिक सहारे का इंतजाम कर सकते हैं. यह योजना जनवरी 2004 में सरकारी कर्मचारियों के लिए शुरू की गई थी, जिसे 2009 में सभी वर्गों के लिए खोल दिया गया. इस योजना के तहत कामकाज के दौरान आपको निवेश करना होता है. इसके बाद 60 साल की उम्र पूरी होने पर इकट्ठा हुई राशि के एक हिस्से को वह एक बार में निकाल सकते हैं और बची हुई राशि से वह नियमित तौर पर पेंशन के रूप में आय प्राप्त कर सकते हैं. एनपीएस से आप हर महीने ₹5000 निवेश से बुढ़ापे में 20,000 की पेंशन का इंतजाम कर सकते हैं.

एनपीएस के फायदे

मान लीजिए कि आप 30 साल की उम्र से में योगदान करना शुरू करते हैं तो आपको हर महीने 5 हजार रुपये का 60 साल की उम्र तक योगदान करना होगा.

NPS में मंथली निवेश: 5000 रुपये (60,000 रु सालाना)
30 साल में कुल योगदान: 18 लाख रुपये
निवेश पर अनुमानित रिटर्न: 8%
टैक्स सेविंग: 5.4 लाख
मेच्योरिटी पर कुल रकम: 74.21 लाख रुपये
एन्युटी परचेज: 40%
अनुमानित एन्युटी रेट: 8%
अधिकतम टैक्स फ्री विद्ड्रॉल: मेच्योरिटी अमाउंट का 60%
60 की उम्र पर पेंशन: 19,790 रुपये महीना
एकमुश्त कैश: 44.52 लाख

Loading...

एनपीएस के तहत आप 2 तरह के खाते हो सकते हैं- टियर 1 और टियर 2. इसमें टियर 1 पेंशन खाता होता है और टियर 2 स्वैच्छिक बचत खाता. टियर 1 खाता कोई भी शख्स खोल सकता है लेकिन टियर-2 खाता तभी खोला जा सकता है, जब आपके पास टियर-1 खाता हो.एनपीएस के तहत इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80CCD(1B) के तहत 50 हजार रुपये तक के निवेश पर टैक्स छूट का लाभ मिलता है.

अगर आप सेक्शन 80C के तहत 1.5 लाख रुपये तक की लिमिट पूरी कर चुके हैं तो एनपीएस आपको एक्स्ट्रा टैक्स सेविंग्स में भी मदद कर सकता है. इस योजना की मेच्योरिटी पर 60 फीसदी तक रकम निकालने पर टैक्स नहीं लगता है. आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यमों से एनपीएस खाता खोल सकते हैं और आप ऑनलाइन ही नॉमिनी का नाम भी बदल सकते हैं.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.