Loading...

भारत के इन बड़े क्रिकेटरों को नहीं मिला विदाई मैच खेलने का मौका

0 2

पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अगस्त में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया. धोनी के साथ ही सुरेश रैना ने भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया. लेकिन दोनों ही खिलाड़ियों ने बिना विदाई मैच खेले अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया. आज हम आपको ऐसे ही भारतीय दिग्गज क्रिकेटरों के बारे में बता रहे हैं, जो बिना विदाई मैच खेले ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह गए.

सुनील गावस्कर

सुनील गावस्कर ने अपना अंतिम मैच 1987 के विश्व कप के सेमीफाइनल के रूप में खेला था. लेकिन उन्हें यह पता भी नहीं था कि यह उनका आखिरी मैच होगा.

मोहम्मद अजहरुद्दीन

Loading...

मोहम्मद अजहरुद्दीन ने काफी समय तक भारतीय टीम की कप्तानी की. लेकिन उन पर जब मैच फिक्सिंग के आरोप लगे तो उनका करियर खत्म हो गया और उन्हें विदाई मैच खेलने का भी मौका नहीं मिला.

राहुल द्रविड़

भारत के महान बल्लेबाज राहुल द्रविड़ को भी बिना विदाई मैच खेले ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेना पड़ा था.

वीरेंद्र सहवाग

वीरेंद्र सहवाग विस्फोटक बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं. वीरेंद्र सहवाग को भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास बिना विदाई मैच खेले ही लेना पड़ा था.

वीवीएस लक्ष्मण

वीवीएस लक्ष्मण की गिनती महान खिलाड़ियों में होती है. उन्होंने बिना विदाई मैच खेले ही एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में संन्यास की घोषणा कर दी थी.

जहीर खान

भारत के तेज गेंदबाज जहीर खान को विदाई मैच खेलने का अवसर नहीं मिला और उन्होंने ऐसे ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया.

गौतम गंभीर

पूर्व भारतीय बल्लेबाज गौतम गंभीर को भी विदाई मैच खेलने का अवसर नहीं दिया गया था.

युवराज सिंह

युवराज सिंह ने 2019 में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए अपने संन्यास की घोषणा की थी. उन्हें विदाई मैच खेलने का मौका नहीं मिला था.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.