Loading...

अगर आप हैं पेंशनर तो इस जगह से पाएं अपनी पेंशन से जुड़ी सभी जानकारियां..

0 2
यदि आप भी रिटायर हो चुके हैं और पेंशन पाने वालों में से एक है तो आपको भी जल्द से जल्द पेंशन अकाउंट वाले लाइफ सर्टिफिकेट यानी जीवन प्रमाण पत्र को जमा करना अनिवार्य है। हर साल पेंशन पानी वालों को पेंशन लगातार पाने के लिए 30 नवंबर तक अपना लाइफ सर्टिफिकेट पेंशन आने वाली बैंक में जमा करना है। लाइफ सर्टिफिकेट पेंशनर के जीवित होने का सबूत है। ऐसा न करने पर आपका पेंशन रोका जा सकता है।
जीवन प्रमाण पत्र को पेंशन धारक अपने पेंशन अकाउंट वाली बैंक ब्रांच या किसी भी ब्रांच में जाकर स्वयं जाकर या ऑनलाइन भी जमा कर सकते हैं। इसे डिजिटल रूप  से किसी भी ब्रांच में अपने लैपटॉप, मोबाइल आदि के जरिए https://jeevanpramaan.gov.in वेबसाइट से निकटतम आधार आउटलेट सीएसटी से उमंग ऐप के जरिए कर सकते हैं।
डिजिटल रूप से प्रमाण पत्र जमा करने के लिए आपको आपके आधार नंबर, मोबाइल नंबर, पेंशन पेमेंट ऑर्डर नंबर व अकाउंट नंबर की जरूरत होगी। स्वयं फिजिकल फॉर्म में लाइफ सर्टिफिकेट जमा करने के लिए इसे बैंकों की वेबसाइट से आपको पहले डाउनलोड कर भरना होगा और फिर जमा करना होगा।
Loading...
क्या है यह जीवन प्रमाण पत्र
जीवन प्रमाण पत्र एक आधार बेस्ड डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट है। इस सर्टिफिकेट की मदद से पेंशनर्स को अब अपने निकटतम बैंक ब्रांच कॉमन सर्विस सेंटर यानी एसपीएस या किसी अन्य सरकारी ऑफिस में जाकर लाइफ सर्टिफिकेट के आधार नंबर के जरिए बायोमैट्रिकल ऑथेंटिकेट कराना होगा। इसके साथ अपने पेंशन बैंक अकाउंट से संबंधित कुछ अन्य पेंशन डिटेल्स भी देनी होंगी इसके बाद जमा हो जाता है।
इन डाक्यूमेंट्स को अपने साथ लेकर जाना होगा: सत्यापित पीपीओ आधार कार्ड, बैंक पासबुक, इन सभी की फोटो कॉपी, पेंशन सेक्शनिंग अथॉरिटी का नाम, मोबाइल नंबर, सर्टिफिकेट जमा करने के लिए आपको निकटतम बैंक ब्रांच या किसी सरकारी ऑफिस का पता   वेबसाइट पर लोकेट सेंटर ऑप्शन से लगाना होगा।
डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट को आधार नंबर से तभी ऑथेंटिकेट किया जा सकता है जब पेंशनर का अकाउंट आधार नंबर से लिंक हो डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र के सक्सेसफुल सबमिशन के बाद पेंशनर का रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस आ जाता है। जिसमें  ट्रांजैक्शन आईडी होती है। आईडी का प्रयोग कर वेबसाइट से कंप्यूटर जेनरेटेड जीवन प्रमाण पत्र डाउनलोड कर सकते हैं।
ऐसे करें उमंग ऐप के जरिए सबमिशन
उमंग हाथों पर जीवन प्रमाण पत्र सर्च करना होगा और जनरेट लाइफ सर्टिफिकेट पर क्लिक करना होगा। इसके बाद पेंशनर अखंड केशन पेज खुल जाएगा। इसके अंदर जाने पर जरूरी इंफॉर्मेशन वर्कर डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट जनरेट कर सकते हैं।
डिजिटल सर्टिफिकेट रजिस्ट्रेशन करने के लिए
डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र  का रजिस्ट्रेशन करने के लिए सीएससी, बैंकों और सरकारी दफ्तरों द्वारा चलाए जा रहे जीवन प्रमान सेंटर के जरिए करना होगा। इसके अलावा कंप्यूटर मोबाइल इत्यादि पर क्लाइंट एप्लीकेशन डाउनलोड कर रजिस्ट्रेशन कराया जा सकता है। इसकी पूरी जानकारी https://jeevanpramaan.gov.in/#certificate से https://jeevanpramaan.gov.in/app/faq और https://jeevanpramaan.gov.in/newassets/docs/Procedures_for_DLC_Ver1_0.pdf से भी ली जा सकती हैं।
इस बात को भी ध्यान में रखें
यदि पेंशन धारक को फिर से नौकरी लग जाती है तो फैमिली पेंशन धारक की दोबारा शादी हो गई है। तो  ऐसे में लाइफ सर्टिफिकेट केवल फिजिकल फॉर्मेट में जमा करने का प्रावधान है। जीवन  प्रमाण पत्र पूरी जिंदगी के लिए वाजिद नहीं हैं। इसका वैधता अवधि पेंशन सक्शनिंग अथॉरिटी द्वारा तय की गई है यह है। वैधता पीरियड खत्म होने के बाद नए सर्टिफिकेट के लिए अप्लाई करना होगा।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.