Loading...

PF खाते पर मिलती है कई सुविधाओं के साथ लोन की सुविधा भी, जानें किस तरह उठा सकते हैं इसका फायदा..

0 3

अपने भविष्य को सुरक्षित रखने के लिए सभी वर्ग के कर्मचारी अपने रिटायरमेंट के लिए पीएफ खाता काफी जरूरी समझते हैं और यह काफी जरूरत है भी क्योंकि एक सरकारी और प्राइवेट कर्मचारी के लिए रिटायरमेंट के बाद की पूंजी किसी फंड में जमा होती है। पीएफ से पैसा निकालना भी अब पहले की बाकी मुश्किल काम नहीं रहा है।

खास परिस्थितियों में भी आप बड़ी ही आसानी से 16 सीमा तक अपनी रकम पीएफ खाते से निकाल सकते हैं। मकान खरीदने बनाने मकान के रीपेमेंट बीमारी उच्च शिक्षा शादी आदि के लिए आप पैसे निकाल सकते हैं। ऐसी जरूरतों के लिए आप अपनी जमा राशि का 90% हिस्सा पीएफ खाते से निकाल सकते हैं।

 

अपने आने वाले कल को सुरक्षित बनाने के लिए हर नौकरी वाला व्यक्ति ईपीएफओ का सब्सक्राइबर बन सुरक्षित महसूस करता है। लेकिन बहुत ही कम लोग जानते हैं कि आपको अपने पीएफ खाते पर कई अन्य सुविधाएं भी प्राप्त होती हैं। यह सुविधाएं पीएफ खाते पर बीमा लोन और पेंशन की सुविधाएं हैं जो प्रत्येक यह खाता धारक को प्राप्त होती है।

पीएफ खाते पर इंश्योरेंस 
पीएफ पर मिलने वाले अन्य लाभों की बात की जाए तो पीएफ खाते पर आपको लाइट कम लाइफ इंश्योरेंस के अंतर्गत 5 हजार रुपए की बेसिक वेतन वाले लोगों को 30,000 रुपए का फायदा मिल सकेगा। जिन लोगों की बेसिक वेतन 5001 रुपए से लेकर 10 हजार रुपए के बीच होती है। वह 40 हजार रुपए के लाभ के लिए लाभकारी होंगे। वहीं, यदि किसी कर्मचारी की मासिक वेतन 10,000 रुपए से अधिक है तो उन्हें 50,000 रुपए के लाभ का फायदा प्राप्त हो सकता है।
यदि आप भी ईपीएफओ 20 वर्ष है और इसका लाभ उठाना चाहते हैं तो आपके लिए बेहतर यही होगा कि आप 20 साल तक अपना खाता ना बदलें। यदि आप किसी जगह पर एक लंबे समय से नौकरी कर रहे हैं और आपको नौकरी बदलनी नहीं पड़ रही है तो आप अपना पुराना खाता ना बदले एक ही खाते को जारी रखें। ऐसा करने से आप इस फायदे को प्राप्त कर सकते हैं।
पीएफ खाते पर लोन
कोई भी पीएफ खाताधारकों निष्क्रिय पड़े खाते पर भी ब्याज मिलता है। इसका मतलब यह है कि अगर आपका पीएफ खाता 3 साल से ज्यादा वक्त तक निष्क्रिय रहता है, तो भी आपको उस पर ब्याज मिलता रहता है। साल 2016 में ईपीएफओ ने अपने पुराने फैसले में बदलाव किया था। इससे पहले निष्क्रिय रहने पर पीएफ के पैसे पर कोई ब्याज नहीं दिया जाता था।
यदि बात की जाए कि आपको पीएफ खाते पर कितना लोन प्राप्त होगा तो आपको बता दें कि यह बड़ा सवाल सभी के मन में आता है। यदि आप में अपने खाते में लोन लेने वाले साल तक चार लाख रुपए जमा कर चुके हैं तो आप। उस पर 1 रुपए का लोन प्राप्त कर सकते हैं। आपको बता दें कि पीएफ खाते  से जुड़े हुए कुछ नियम होती हैं जो कि खाताधारक खाते में जमा कुल रकम का 25% ही लोन के रूप में प्राप्त कर सकता है।
पीएफ खाते पर लोन लेना काफी अच्छा विकल्प होता है। पीएफ खाते पर लोन लेने के कई फायदे भी हैं। जो कि इसे काफी आकर्षक बनाते हैं। नियमों के अनुसार यदि आप पीएफ खाते पर 8% की ब्याज प्राप्त कर रहे हैं तो उस पर लिए गए लोन पर आपको 9% की ब्याज देनी होती है। जिसके हिसाब से देखा जाए तो आपको अपने लोन पर केवल 1% ब्याज देनी पड़ती है।
पीएफ खाते पर पेंशन 
नौकरी पैसे वाले व्यक्तियों के लिए अपनी ईपीएस खाता और पेंशन काफी मायने रखती है। आपको बता दें कि एंप्लॉय प्रोविडेंट फंड में दो तरह की स्कीमें प्राप्त होती है, जिसमें पैसा जमा किया जाता है। पहला प्रोविडेंट फंड यानी कि इपीएफ दूसरा पेंशन फंड यानी कि इपीएस 15 रुपये की मासिक सैलरी वाला कोई भी व्यक्ति ईपीएफ खाताधारक बन सकता है। इसमें कर्मचारी की बेसिक सैलरी का 12% उसकी सैलरी से काटा जाता है और दूसरा हिस्सा कंपनी द्वारा योगदान किया जाता है कर्मचारी का पूरा इपीएफ 12% जमा किया जाता है। वहीं कंपनी के हिस्से को दो टुकड़ों में भरा जाता है। पहला 3.67% का होता है जो कि ईपीएफ में जमा होता है। वहीं बाकी का दूसरा 8.33% होता है जो कि ईपीएस में जमा किया जाता है।
Loading...
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.