Loading...

भारत की इस चीज से परेशान हुआ चीन! घबराकर इस तरह निकाली भड़ास..

0 7
जैसा कि आप सभी जानते हैं त्योहारी जी सीजन पूरे जोरों-शोरों से शुरु हो चुका है। दिवाली में बस अब एक हफ्ता ही बजा है। लोग अपनी खरीदारी और अन्य कामों में व्यस्त हो चुके हैं, लेकिन इस बार दिवाली एक मामले में पहले से कुछ अलग है।
इस बार चीन के सामानों की मांग बहुत कम हो चुकी है। गलवान घाटी में देश चीनी सामान गोवलकोट करने का असर साफ दिखाई दे रहा है। आपको बता दें कि इस बार दिवाली पर चीनी मिल की लाइट नहीं बल्कि गाय के गोबर से बने करोड़ों दिए जगमगाती नजर आएंगे। इन दिनों से भी चीन की चिंता पहले से और बढ़ चुकी है।
Loading...
चीन के सामानों को रिकॉर्ड कर और गोबर कैदियों से बीजिंग के कारोबारी मोर्चे पर काफी तगड़ा असर दिखाते नजर आ रहे हैं। इसमें चीन ने इस पर अपनी खुन्नस भी जाहिर कर दी है।
आपको बता दें कि भारत में चीनी सामानों के वर्क आउट होने के चलते बेसिन टेंशन में आ चुका है। अपनी भड़ास निकालने के लिए चीन ने ग्लोबल टाइम जोकि बेसिन का प्रमुख पत्र है। इसमें इंटरव्यू के दौरान कहा कि क्या गाय के गोबर के दीयों से दिवाली ज्यादा बढ़िया ढंग से मनेगी।
इस मामले पर अखबार के देश में यह भी लिखा गया है, जिसमें भारत चीन संबंधों और चीनी सामानों के कोर्ट का जिक्र किया गया है। भारतीय घरेलू सामानों के लिए अधिक खर्च कर रहे हैं, लेकिन गरीबों के लिए वाली अच्छी नहीं होगी।
खबर के मुताबिक, भारत के चीनी सामानों को वर्कआउट करने के चलते बीजिंग 40,000 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। चीन ने कहा कि चीनी प्रोडक्ट की जगह नए जमाने के उत्पाद लाए जाने चाहिए ना कि गोबर से बने दीए। दिवाली भारत का सबसे अहम और बड़ा त्यौहार है।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.