Loading...

PF Claim के समय नहीं चाहते परेशानियां तो रखें इन बातों का ध्यान, जानें पूरी खबर..

0 5
यह तो आप सभी जानते होंगे कि नौकरी पेशे वाले व्यक्ति के लिए का पीएफ खाता काफी मायने रखता है। ऐसे में पीएफ खाते से जुड़े सभी जरूरी काम करना भी अति आवश्यक है। पीएफ खाते से जुड़े जरूरी कामों में से एक खाते की केवाईसी है।
यदि आप भी नौकरी करने वाले व्यक्ति हैं और आपकी ईपीएफ खाते की केवाईसी नहीं हुई है तो आज हम आपको एक ऐसा आसान सा तरीका बताना जा रहे हैं। जिसके माध्यम से आप घर बैठे ही अपनी ईपीएफ खाते की केवाईसी को कंप्लीट कर सकते हैं। इस केवाईसी को कंप्लीट करने के लिए आपको अपने खाते के यूएएन नंबर के माध्यम से अपडेट करना होगा।
पहले बात करते हैं ईपीएफ खाते की केवाईसी अपडेट करने के क्या-क्या फायदे होते हैं। इनमें से सबसे पहले बात की जाए तो केवाईसी अपडेट किया जाने पर पैसे ट्रांसफर या निकासी में किसी प्रकार की परेशानी का सामना आपको नहीं करना पड़ेगा। बैंक खाता रिजल्ट अपडेटेड ना होने की स्थिति में क्लेम रिक्वेस्ट रिजेक्ट भी हो जाती हैं, जिससे आप बच जाएंगे यदि आपने केवाईसी डॉक्यूमेंट जमा नहीं किए हैं तो ईपीएफ सदस्य को किसी प्रकार का एसएमएस अलर्ट भी प्राप्त नहीं होता है। इसलिए अपने ईपीएफ खाते की केवाईसी करना अति आवश्यक है, जिसे आप इन सभी सुविधाओं का लाभ उठा सकें।
Loading...
इस तरह करें पीएफ खाते की KYC कंम्प्लीट 
यदि बात की जाए ईपीएफ खाते की केवाईसी से जुड़े जरूरी दस्तावेजों की तो आपको बता दें कि इस केवाईसी को पूरा करने के लिए आपके पास आधार कार्ड, परमानेंट अकाउंट नंबर यानी की पैन कार्ड, नेशनल पापुलेशन रजिस्टर, बैंक खाता, नंबर पासपोर्ट, राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और वोटर आईडी कार्ड होना आवश्यक है।
चलिए अब बात करते हैं। उस पूरे प्रोसेस की जिससे आप घर बैठे ही अपनी ईपीएफ खाते की केवाईसी को पूरा कर सकते हैं। ईपीएफ यूएएन के लिए केवाईसी को ऑनलाइन अपडेट करने के लिए सबसे पहले आपको ईपीएफओ यूएएन पोर्टल https://unifiedportal-mem.epfindia.gov.in/memberinterface/ पर जाना होगा। यहां यूएएन पासवर्ड और कैप्चा कोड भरना होगा।
इसके बाद आपको मैपेज टैब में केवाईसी और कल कांटेक्ट डिटेल्स के दो विकल्प नजर आएंगे। जहां से आपको केवाईसी से जुड़ी जो भी जानकारी अपडेट करनी है। उसे लिस्ट में अपडेट करना होगा। पोर्टल पर डिटेल्स को अपडेट करने के बाद जब तक नियोक्ता की ओर से केवाईसी अप्रूव नहीं होती, तब तक केवाईसी स्टेटस पेंडिंग ही नजर आएगा। एक बार जब आपके नियोक्ता की ओर से आप ही केवाईसी को अप्रूव किया जाएगा। उसके बाद आपका स्टेटस बदलकर अप्रूव्ड बाय एंपलॉयर नजर आने लगेगा। बदलाव होने के बाद आपको एक एसएमएस के माध्यम से सूचना भी दे दी जाएगी।
इस तरह करें पीएफ केलिए ऑनलाइन क्लेम
आपको बता दें कि सरकार ने कर्मचारी भविष्य निधि संगठन कर्मचारियों के लिए महामारी अग्रिम सुविधा की शुरुआत की है। अब ऐसे में सबका अगर अपने ईपीएफ खाते से 75% तक या फिर 3 महीने के मूल वेतन और महंगाई भत्ते में से जो भी रकम कम हो उसकी निकासी कर सकते हैं। सरकार ने नियमों में ढील तो दी है लेकिन अब आप घर बैठे अपने पीएफ की निकासी कर सकते हैं। ऐसे में घर बैठे किस प्रकार आप ऑनलाइन अपने पैसे को निकाल सकते हैं, यह तरीका हम आपको बताएंगे। आइए जानते हैं-
इसके बाद आपको यूएएन की आधिकारिक वेबसाइट https://unifiedportalmem.epfindia.gov.inmember पर लॉग इन करना होगा। इसमें आपको अपना यूएएन नंबर पोर्टल पर लॉग इन करना होगा। इसके बाद मैंने स्टेप में जाकर सारी जुड़ी जानकारियों को भरना होगा। अगर आपके द्वारा दी गई केवाईसी से जुड़ी हुई जानकारी सही हो तो आप ऑनलाइन सर्विस ऐप पर जाकर डाउनलोड मैंने उसे क्लेम फॉर्म 31, 19 वा 10 में से कोई भी सिलेक्ट कर सकते हैं। क्लेम स्क्रीन पर मेंबर का विवरण केवाईसी डीटेल्स इत्यादि आता है।
इसके बाद आप बैंक अकाउंट की आखिरी चार अंक डालकर वेरीफाई करेंगे। इस प्रोसेस को आगे बढ़ाने के लिए आपको यस पर क्लिक करना होगा। अब प्रोसीड फॉर ऑनलाइन क्लेम पर क्लिक करके आप अपना फॉर्म यहां दे सकते हैं। याद रहे कि इसमें आप पीएफ एडवांस फॉर्म यानी कि 31 पर  क्लिक करेंगे और अपने डॉक्यूमेंट अपलोड करेंगे। यहां आकर आउटब्रेक ऑफ पांडेमिक का विकल्प चुनेंगे।
इसके बाद अपनी राशि जो आप प्राप्त करना चाहते हैं। वह भरकर अपनी चेक की स्कैन कॉपी को अपलोड करने के साथ ही एड्रेस डालेंगे। इसके बाद गेट ओटीपी पर क्लिक करेंगे। आप के आधार से रजिस्टर्ड किए हुए नंबर पर ओटीपी आ जाएगा और आपका क्लेम अमाउंट सबमिट हो जाएगा। आपको बता दें कि इस समय में 15 से 20 दिन का लगता है और धनराशि आपके अकाउंट में सीधे ट्रांसफर कर दी जाती है।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.