Loading...

Post Office की इस स्कीम में करें आज ही निवेश शानदार होगा आपका फायदा, जानें पूरा प्लान..

0 5
वर्तमान समय में बैंकों में किसी भी सेविंग खाते पर ब्याज दर मैं काफी कटौती हो चुकी है। लोगों को सामान्य लेनदेन के लिए सेविंग खाते का यूज करना पड़ता है, लेकिन उस उसमें जमा राशि पर किसी तरह का फायदा नहीं होता वही सिर्फ पौधे खाते में भी ब्याज दरें इतनी खास नहीं होती। सिर्फ प्रोजेक्ट में एक बार में पूरी राशि जमा करानी पड़ती है।
यह सब के लिए मुमकिन नहीं होता ऐसे में लोगों के सामने यह समस्या देखने को मिलती है कि वह अपनी छोटी बचत कहां निवेश करें, जिससे उन्हें हर महीने एक अच्छा लाभ प्राप्त हो सके। यदि आप एफबी नहीं करवाना चाहते हैं तो आपके लिए रिकरिंग डिपॉजिट एक अच्छा विकल्प हो सकता है, जिसमें आपको कई फायदे प्राप्त होंगे।
आपको बता दें कि प्राइवेट सेक्टर का मंथली इनकम रिकरिंग डिपॉजिट खाता खोलने की सुविधा दे रहा है। यह उन लोगों के लिए काफी फायदेमंद है जो long-term वित्तीय लक्ष्यों के लिए पहले से ही निवेश करना चाहते हैं। आपको बता दें कि ICICI बैंक काम यह मंथली इनकम रिकरिंग डिपॉजिट एक टर्म डिपॉजिट स्कीम है। यह इन्वेस्टमेंट फेस में कई फीचर्स के साथ आता है और पेआउट फेस में एन्यूटी सिक्स डिपॉजिट की तरह होता है।
Loading...
इस तरह खुलवाएं खाता 
यदि आप भी ICICI बैंक का यह रिकरिंग डिपॉजिट खाता खुलवाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको भारतीय नागरिक होना अनिवार्य है। इसे सिंगल या जॉइंट भी खुलवाया जा सकता है। इस खाते में निवेश की मिनिमम वैल्यू 2,000 रुपए प्रतिमाह है। इसके बाद 100 रुपए की मल्टिप्लाई में डिपॉजिट किया जा सकता है। इस खाते में डिपॉजिट की अवधि 2 चरणों में होती है।
पहला इन्वेस्टमेंट फेस और दूसरा पेआउट या बेनिफिट्स फेस। इन्वेस्टमेंट फेस मिनिमम 24 महीने के लिए होता है या 3 महीने के मल्टिप्लाई में होता है। पेआउट फेस भी 24 महीने के लिए ही होता है, लेकिन यह 12 महीने के लिए मल्टीप्लाई किया जाता है।
भारत का कोई भी नागरिक अपने नजदीकी पोस्ट ऑफिस में यह खाता खुल सकता है। कोई भी व्यक्ति अपने नाम चाहे जितने भी रेकरिंग डिपाजिट खाता खोला चाहे वह खुलवा सकता है। अधिकतम खाता संख्या को लेकर भी कोई पाबंदी सरकार द्वारा अभी तक नहीं लगाई गई है। यह खाता केवल व्यक्तिगत रूप से खोला जा सकता है। कोई दो व्यस्क व्यक्ति चाहे तो एक जॉइंट आईडी अकाउंट भी खोल सकते हैं। पहले से खुले हुए व्यक्तिगत खाते को जॉइंट खाते मिले नहीं बदला जा सकता। ना ही पहले से खुले हुए जॉइंट खाते को व्यक्तिगत किया जा सकता है।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.