Loading...

GK IN HINDI; जानिए आखिर नारियल के अंदर पानी कैसे भर जाता हैं,जबकि वह ऊंचाई पर और चारों तरफ से बंद होता है

0 25

नारियल पानी यानी श्रीफल तो भारत में सभी ने देखे हैं। दक्षिण भारत में नारियल पानी एक सामान्य पेय जक हैं। उत्तर भारत की सड़कों पर भी अब नारियल देखने को मिल जाते हैं। नारियल काफी ऊंचाई पर लगा होता है और चारों तरफ से बंद भी होता है। तो फिर इसके अंदर पानी कैसे जाता है और उसके अंदर मलाई कैसे बनती है। गुजरात में रहने वाली श्रीमती उषा जैन भटनागर जो 15 सालों तक साइंस की टीचर रही हैं। उन्होंने अपने ब्लॉग में बताया है कि असल में नारियल पानी में जो पानी होता है उस पौधे का endosperm वाला भाग होता है जो भ्रूण के विकास के समय और fertilasation के बाद एंडोस्पर्म nucleus मैं बदल जाता है।

कच्चे नारियल में जो एंडोस्पर्म होता है वह न्यूक्लियर टाइप होता है और रंगहीन तरल के रूप में होता है। जिसमें उनको करते रहते हैं भूर कोष में यह तरल पदार्थ में पूरी तरह नेको nuclei तैरते रहते है। भ्रूण कोश मैं यह तरल पदार्थ पूरी तरह भरा रहता है, और इसी मैं भ्रूण का विकास होता है।

बात की मैं, कई nuclei, सेल्ज़ के साथ मिल कर किनारों पर जमते चले जाते है। जो अंत में नारियल गिरी बन जाती है। Free nuclei की उपस्थिति के कारण यह बहुत ही पोषक होता है। इसमें प्रोटीन की मात्रा दूध से कहीं ज्यादा होती है नारियल पानी में सोडियम पोटेशियम मैग्नीशियम विटामिन सी भी पाए जाते हैं

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.