Loading...

बिना राशन कार्ड के भी खाद्य विभाग से ले पाएंगे अपना राशन, नहीं ले जाना पड़ेगा राशन कार्ड!  इस तरह काम करेगा Smart Ration Card..

0 12
आज के समय में भारत में राशन कार्ड की काफी अहमियत है। कोरोना वायरस के चलते देश में लगे लॉकडाउन के समय में राशन कार्ड ही एकमात्र ऐसा सहारा था जो कि गरीबों को उनके खाने का पहुंचा रहा था राशन कार्ड बेहद ही जरूरी दस्तावेज है। इसके माध्यम से कार्ड धारकों को केंद्र सरकार द्वारा सब्सिडी के अंतर्गत सस्ती दरों पर राशन उपलब्ध कराया जाता है।
राज्य सरकार द्वारा राशन कार्ड जारी किए जाता है। राशन कार्ड हर राज्य के खाद्य विभाग द्वारा दिया जाता है। राशन कार्ड को बेहतर सुविधाएं देने के लिए राशन कार्ड की प्रक्रिया को डिजिटल और काफी आसान बना दिया गया है। इस कड़ी में कार्ड धारकों को स्मार्ट राशन कार्ड राशन कार्ड दिया जा रहा है। इस राशन कार्ड के के माध्यम से डिजिटल तरीके से कार्ड धारकों में राशन बांटा जाता है।
आपको बता दें कि स्मार्ट राशन कार्ड के लिए कार्ड धारकों का डाटा खाते विभाग की वेबसाइट पर ऑनलाइन अपलोड कर दिया जाता है। इस प्रक्रिया में 10 से 20 मिनट का समय लगता है। खाद्य विभाग के साथ-साथ स्मार्ट राशन कार्ड बनवाने के लिए जिन शहरों में कार्ड धारकों की संख्या अधिक है, वहां पर आउट सोर्स एजेंसियां भी बना दी गई है।
Loading...
यदि आपके पास भी पुराना राशन कार्ड है तो आप नया राशन कार्ड बड़ी आसानी से बनवा सकते हैं। उत्तराखंड, पंजाब और दिल्ली समेत कई राज्यों में इसकी व्यवस्था को अपनाया गया है। स्मार्ट राशन कार्ड बनवाने से आपको किसी भी दस्तावेज के लिए उसे साथ में हार्ड कॉपी के रूप में लेकर नहीं घूमना होगा। आप राशन कार्ड के बिना ही राशन डिपो से राशन प्राप्त कर पाएंगे।
इसने राशन स्मार्ट राशन कार्ड को अपने राज्य के अंदर किसी भी राशन कार्ड डिपो पर इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके लिए राशन डिपो में स्वैप मशीन कर्मचारियों को दे दी गई है। इस मशीन पर आपका कार्ड स्वाइप करना होगा। इसके बाद आपके अंगूठे का स्कैन किया जाएगा। इसके बाद स्मार्ट राशन कार्ड में मौजूद जानकारियां सही पाए जाने पर कार्ड धारक को राशन दे दिया जाएगा।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.