Loading...

अपने नाबालिग बच्चे के लिए खुलवाएं SBI का यह खाता, मिलेंगी डेबिट कार्ड और चेकबुक जैसी कई सुविधाएं..

0 8
नई दिल्ली भारत के सबसे बड़े बैंक  भारतीय स्टेट बैंक ने पहला कदम और पहली उड़ान नाम के नए बचत खाता नाबालिक बच्चों के लिए जारी किए हैं। इस अकाउंट की खास बात यह है कि इनमें मंथली एवरेज बैलेंस नियमित करने का झंझट नहीं है। इस स्कीम के साथ खाता खोलने पर बच्चे की फोटो के साथ एक एटीएम कार्ड भी उपलब्ध कराया जाता है। इसके साथ इंटरनेट बैंकिंग की भी सुविधा मिलती है।
(1) योग्यता
~  पहला कदम- 18 वर्ष से पहले पहले कोई भी नाबालिक बच्चा अकाउंट को खोल सकता है। परंतु यह अकाउंट केवल अभिभावक के साथ ज्वाइंट अकाउंट के रूप में खोला जाएगा।
~ पहली उड़ान- 10 साल से बड़ा कोई भी नाबालिक बच्चा इसे अपने नाम से भी खोल सकता है।
Loading...
(2) ट्रांजैक्शन लिमिट- पहला कदम व पहली उड़ान दोनों ही खातों में 1 दिन में 5,000 रुपए की ट्रांजैक्शन लिमिट रखी गई है और मोबाइल बैंकिंग की लिमिट 2,000 रुपए तय की गई है। नाबालिक इस खाते से बिल पेमेंट इंटर बैंक फंड्स, ट्रांसफर, डिमांड ड्राफ्ट बनाने और एटम डिपॉजिट का उपयोग कर सकते हैं।
(3)  ब्याज दर- पहला कदम और पहली उड़ान दोनों ही बचत खातों की ब्याज दर समान रखी गई है। 1 लाख रुपए से कम सेविंग पर एसबीआई की ब्याज दर 2.70% है। वहीं 1 लाख रुपए से ज्यादा सेविंग पर ब्याज दर 2.70% है।
(4) डेबिट कार्ड
पहला कदम- पहला कदम बचत खाता में डेबिट कार्ड पर बच्चे की तस्वीर होती है। इस कार्ड से कैश निकालने की सीमा 5,000 रुपए है और यह नाबालिक और अभिभावक दोनों के नाम से होगा।
पहली उड़ान- इस बचत खाता में मिलने वाला डेबिट कार्ड पर फोटो नहीं होती है। इस कार्ड से भी एक दिन में  5 हजार रुपए तक की राशि निकालने की सीमा है। यह कार्ड केवल नाबालिक के नाम पर जारी होता है।
(5) चेक बुक सुविधा
पहला कदम- बचत खाते की स्कीम के अनुसार पर्सनलाइज्ड चेक बुक नाबालिक के नाम अभिभावक को जारी की जाती है। यह 10 चेक वाला चेक बुक होता है।
पहली उड़ान- इस बचत खाते मैं 10 चेक वाला चेक बुक नाग वाले के नाम पर दिया जाता है, अगर वह यूनीफामर्ली हस्ताक्षर कर सकता है तो।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.