Loading...

Dussehra 2020 : जान‍िए आखिर क्‍यों मनाया जाता है विजयदशमी का ये खास पर्व, पीछे छुपी है ये खास वजह

0 14

हमारे देश में दशहरा का पर्व बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। इसको विजयदशमी भी कहा जाता है। नवरात्रि के समय 9 दिन मां दुर्गा की पूजा की जाती है और दशहरे रावण का पुतला बनाकर उसका दहन किया जाता है उसका त्रेतायुग से है। त्रेतायुग में श्रीहर‍ि ने मर्यादा पुरुषोत्तम राम के रूप में अवतार लिया था तो आइए आपको बताते हैं उसके बारे में।

श्री राम को अपने पिता के दिए हुए वचन के कारण 14 वर्षों के वनवास पर जाना पड़ा था। जब राम वनवास किए जाने लगे तो उनके छोटे भाई लक्ष्मण पत्नी सीता भी उनके साथ आ गए उन्हें श्री राम को देखकर लंका के राजा रावण की बहन सुपनखा श्री राम पर मोहित हो गई और उसने श्री राम के सामने विवाह का प्रस्ताव रख दिया।

श्री राम ने सुपनखा को आदर पूर्वक बताया कि वह उससे विवाह नहीं कर सकते। क्योंकि उसने अपनी पत्नी सीता को वचन दिया है कि वह इसके अतिरिक्त किसी और से विवाह नहीं करेंगे। राम ने सुपनखा को लक्ष्मण के पास भेज दिया। लक्ष्मण के पास जाकर सूर्पनखा विवाह करने की हठ करने लगीं तो लक्ष्मण ने उन्हें मना कर दिया। इस पर सूर्पनखा नहीं मानी तो लक्ष्मण ने क्रोधित होकर उसके नाक काट डाली।

सुपनखा अपने भाई रावण के पास पहुंची तो उन्होंने राम और लक्ष्मण के बारे में बताया। रावण ने छल पूर्वक माता सीता का हरण कर लिया जिसके बाद हनुमान जी ने उनकी खोज की बहुत समझाने के बाद भी जब रावण नहीं माना। तब राम ने रावण का वध किया और वह सीता को वापस लेकर आ गए।

Loading...

इसलिए मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम ने जिस दिन हवन का व्रत किया था उस दिन शादी नवरात्रि की दशमी तिथि थी। इसलिए इस त्योहार को विजयदशमी कहा जाता है रावण के बुरे कर्म पर श्री राम की अच्छाई पर जीत हुई थी।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.