Loading...

इन बड़ी वजहों के कारण खुलकर नहीं आते महिलाओं को समय पर Periods, पीछे है यह खास वजह

0 6

बदलती लाइफ स्टाइल में महिलाओं पर तनाव इतना ज्यादा हावी हो रहा है कि उनके लाइट पीरियड्स की समस्या हो रही है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि इससे महिलाओं में अर्ली मेनोपॉज का खतरा बना रहता है। पीरियड्स में लाइट ब्लीडिंग के कारण कई सारे हो सकते हैं। आज हम आपको इन्हीं के बारे में बताने वाले हैं तो चलिए आपको बताते हैं कि आखिर वह कौन कौन से कारण होते हैं जो लाइटर पीरियड का कारण बनते हैं।

जब कोई महिला गर्भवती होती है तो योनि से हल्का खून निकलता है। लेकिन रक्तस्त्राव खुलकर नहीं होता इसलिए प्रत्यारोपण रक्तस्त्राव भी कहा जाता है ऐसे में अगर एक से 2 महीने ऐसा होता है तो आपको प्रेगनेंसी अपनी जरूर टेस्ट करनी चाहिए।

वजन के एकदम घटना बढ़ने का सभी मासिक धर्म पर होता है। वजन कम होने उभरने पर हार्मोन का बैलेंस बिगड़ जाता है। जिसके दौरान पीरियड्स में ब्लीडिंग कम होती है।

जो महिलाएं ज्यादातर एक्सरसाइज है वर्कआउट करती है उन्हें पीरियड खुलकर नहीं आते। इसके अलावा जो महिलाएं अधिक एनर्जी ड्रिंक पीते हैं उनको भी पीरियड खुलकर ना आने की समस्या होती है।

Loading...

8 से 9 घंटे की पर्याप्त नींद न लेने के कारण भी शरीर में कॉर्टिसोल का उत्पादन करता है। यह एक हार्मोन है जो मासिक धर्म को प्रभावित करता है यह कंपलीटिंग के साथ-साथ पीरियड अनियमित होने का भी एक कारण होता है।

बच्चे को जन्म देने के तुरंत बाद स्तनपान करवाने के बाद भी महिलाओं को पीरियड खुलकर नहीं आते। स्तन से दूध का उत्पादन करने वाले हार्मोन कैसे रोकता है इसको लेकर पीरियड्स अनियमित हो जाता है और खुलकर नहीं आता।

जिन औरतों को खून की कमी है एनीमिया की शिकायत होती है उन्हें भी पीरियड्स के दौरान ब्लीडिंग कम होती है ऐसे में इनको अपनी डाइट में बदलाव करने चाहिए।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.