Loading...

जान के जोखिम से बचें, अगर आपके शरीर में दिखाई दें ये खास लक्षण, तो तुरंत करा लें अपनी जांच

0 16

शुरुआती स्तर पर ही किसी बीमारी को पहचानकर उसे गंभीर होने से रोका जा सकता है। क्योंकि हर बीमारी शरीर पर बहुत हावी तभी होती है जब हम उस पर ध्यान नहीं देते हैं। यदि आप इस वायरस की पहचान तभी कर पाए हैं। जो आपके शरीर को पूरी तरह से अपनी चपेट में ले चुका है। और आप इसको रोकने की कोशिश कर रहे हैं तो आप बता दें कि आप ऐसा करने में नाकामयाब हो सकते हैं। क्योंकि कई बार यह बीमारियां गंभीर रूप धारण कर लेते हैं तो चलिए आज हम आपको बताते हैं कि आखिर कैसे प्रारंभिक लक्षणों के आधार पर पता लगाया जा सकता है कि शरीर में डेंगू का वायरस प्रवेश कर चुका है।

बदलते मौसम में कई बार बुखार आना कोई बड़ी बात नहीं होती है। लेकिन यह बुखार शुरुआती स्तर में काफी कम और हल्के बदन दर्द के साथ होता है। जबकि डेंगू होने पर आपको अचानक से बहुत तेजी के साथ बुखार आता है। डेंगू के दौरान आप कोई शरीर में बहुत दर्द होगा और शरीर टूटने की समस्या होगी आप खुद को बहुत थका हुआ और कमजोर महसूस करेंगे। इसके साथ ही डेंगू फीवर के दौरान आप को तेज बुखार के साथ-साथ ठंड भी लगेगी।

डेंगू होने पर शुरुआती स्तर पर ही वर्षो से 102 डिग्री के बीच होता है। यदि इसका स्तर पर इलाज शुरुवात में किया जाए तो है तेजी के साथ बढ़ते हुए खतरनाक स्तर पर पहुंच जाता है। इसलिए आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क में रहना चाहिए। इसके साथ ही घर पर डेंगू से बचाव के तरीके भी अपनाते रहने चाहिए।

बुखार के साथ ही आंखों के पीछे की तरफ तेज दर्द होना भी डेंगू का एक मुख्य लक्षण होता है। डेंगू के दौरान रोगी को आंखें खोलने में दिक्कत होती है। क्योंकि आंखों में लगातार भारीपन थकान और दर्द रहता है। बहुत कोशिश करने के बाद भी रोगी मात्र कुछ सेकण्ड जो ही आंखे खुल पाता है अगर फीवर के साथ आंखों में दर्द की समस्या है तो आपको अपने डेंगू की जांच जरूर करानी चाहिए।

Loading...
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.