Loading...

Covid-19: वैज्ञानिकों का दावा, स्मार्टफोन और नोटों पर सबसे ज्यादा एक्टिव रहता है कोरोना

0 12

देश में कोरोनावायरस है कि थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। चीन से निकले खतरनाक वायरस से दुनिया भर में अब तक कई सारे लोगों की मौत हो चुकी है और कई सारे लोग इससे संक्रमित हो चुके हैं। हालांकि कोरोना का अब तक कोई भी स्थाई इलाज नहीं है। इस बीच ऑस्ट्रेलिया और राष्ट्रीय विज्ञान एजेंसी की एक प्रयोगशाला में हुए एक अध्ययन के मुताबिक कोरोनावायरस का संक्रमण नोट्स, ग्लास, स्मार्ट फोन के स्क्रीन और स्टेनलेस स्टील जैसी सतहों पर 28 दिनों तक जीवित रह सकता है।

बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक बायोलॉजी जनरल में प्रकाशित शोध इस बात का पता चला है कि कोरोनावायरस का संक्रमण लंबे समय तक सतह पर जिंदा रहता है और इससे बचने के लिए नियमित रूप से आपको हाथ धोना और सफाई करना बेहद जरूरी है।

ऑस्ट्रेलियन सेंटर फॉर डिजीज में किए गए शोध में इस बात का पता लगा है कि वायरस कम तापमान पर और गैर-छिद्रपूर्ण या चिकनी सतहों जैसे कांच, स्टेनलेस स्टील और विनाइल में अधिक समय तक जीवित रहता है।

ऑस्ट्रेलिया की राष्ट्रीय विज्ञान एजेंसी के शोधकर्ताओं ने पाया है कि वायरस प्लास्टिक की नोटों की तुलना में कागज के नोटों पर अधिक समय तक जिंदा रहता है।

Loading...

भारत में कोरोना के नए मामलों में लगातार कमी जा रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक पिछले 24 घंटे में देश के कोरोना संक्रमण के 55,342 नए मामले सामने आए हैं। वहीं, इसी अवधि में 706 लोगों की मौत हुई है।

पिछले करीब 2 महीने में यह पहली बार है जब कोरोना के एक दिन में 55 हजार के करीब नए केस दर्ज हुए हैं। वहीं, ये लगातार दूसरा दिन है जब 70 हजार से कम नए मामले सामने आए हैं।
वहीं स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से मंगलवार को जारी अपडेट के मुताबिक भारत में अब कुल कोरोना संक्रमित ओं की संख्या 71,75,881 हो गई है। इसमें एक्टिव मरीज 8,38,729 हैं। वहीं, 62,27,296 लोग अब तक बीमारी से ठीक हो चुके हैं।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.