Loading...

88 बच्चों का पिता था भारत का ये फेमस राजा, विदेशों में भी थे इनकी ठाठ-बाट के चर्चे

0 15

आजादी से पहले हमारा देश कई सारी छोटी छोटी रियासतों में बंटा हुआ था। पटियाला राजघराना भी इन्हीं में से एक था। आपको बता दें कि पटियाला राजघराना की गिनती धनी रियासतों में की जाती थी। यहां के महाराजा भूपिंदर सिंह देश के एक ऐसे व्यक्ति थे। जिनके पास उनका प्राइवेट जेट था महाराजा भूपिंदर सिंह की लाइफ स्टाइल देख कर अंग्रेज भी हमसे खौफ खाते थे। वह जब भी विदेश जाते थे तो पूरा का पूरा एक होटल ही किराए पर लिया करते थे। महाराजा भूपिंदर सिंह के पास 44 रोल्स रॉयल कार थी। जिसमें से 20 का काफिला रोजमर्रा में राज्य के दौरे के लिए इस्तेमाल किया जाता था।

राजा भूपेंद्र सिंह पटियाला राजघराने ऐसे राजा थे। जिनको लेकर कई सारे किस्से मशहूर हैं वह भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान भी थे भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को खड़ा करने में इनके काफी पैसे खर्च भी हुए थे। इसके अलावा 40 के दशक में जब भी भारतीय टीम विदेश जाती थी तो अमूमन उनका खर्च यही उठाया करते थे।

दीवान जरमनी दास ने अपनी किताब महाराजा में महाराजा भूपेंद्र सिंह के बारे में कई सारी बातें बताई हैं। भूपेंद्र सिंह की 10 पत्नियां थी और 88 संताने थी महाराजा के शानोशौकत के चर्चे दुनियां भर में फेमस थे साल 1935 में बर्लिन के दौरे पर उनकी मुलाकात हिटलर से हुई थी कहा जाता है कि महाराजा भूपेंद्र सिंह से हिटलर इतने प्रभावित हो गए थे कि अपनी एक बार राजा को तोहफे में दे दी थी। हिटलर और महाराजा के बीच दोस्ती काफी लंबे समय तक रही थी।

महाराजा भूपिंदर सिंह के ठाठ एक से बढ़कर एक थे जिसका उदाहरण यह है कि साल 1929 में महाराजा ने कीमती नग हीरो और आभूषणों से भरा संदूक पेरिस के एक जोड़ी को भेजा था लगभग 3 साल की कारीगरी के बाद जौहरी ने एक ऐसा हार तैयार किया था जो काफी ज्यादा सुर्खियों में रहा था।

Loading...
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.