Loading...

कहीं और क्यूँ जाना जब घर बैठे भी आप कर सकते हैं Aadhaar Updating, जानें किन दस्तावेजों की होगी ज़रुरत..

0 4
बहुत लोगों का ऐसा देखा गया है कि जन्म के आधार कार्ड में उनका स्थानीय पता गलत छप कराया है या फिर उन्होंने अपना घर बदल लिया है। लेकिन अभी तक आधार कार्ड में पुराना पता ही लिखा हुआ है। ऐसे बदलाव कराने के लिए अब पहले से काफी अच्छी सुविधाएं जारी की गई है।
आधार के मोबाइल ऐप के लिए सुरक्षित बनाने के लिए यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने इसके लिए एक नया ऐप लॉन्च किया है। नए आधार ऐप को एंड्राइड या आईओएस दोनों ही प्रकार से डाउनलोड किया जा सकता है।
जैसा कि आप सभी जानते हैं भारत में आधार एक महत्वपूर्ण दस्तावेज करार कर दिया गया है। स्कूल में बच्चे के एडमिशन के लिए का सरकारी योजनाओं का लाभ उठाने तक के लिए आधार की आवश्यकता पड़ती ही है। आधार किसी भी एक नागरिक की पहचान को साबित करता है। ऐसे में आधार हमेशा सही जानकारी वाला होना अनिवार्य है। यूजर्स को हमेशा लेटेस्ट जानकारी मोबाइल नंबर और एड्रेस जैसी जानकारियां सही-सही होना अनिवार्य है।
Loading...
अक्सर लोग शहर से दूसरे शहर में काम करने के लिए भ्रमण करते हैं, लेकिन इस दौरान वह अपने एड्रेस में फेरबदल नहीं करते में आधार में अपना पता अपडेट कैसे करें यह बात उन को असमंजस में डाल देती है। ऐसे में आपको बिना किसी आदेश के आधार में अपना एड्रेस अपडेट करने की जानकारी देने जा रहे हैं।
आधार कार्ड जारी करने वाली संस्था यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया को आधार के माध्यम से बिना एड्रेस प्रूफ के उनका एड्रेस बदलने की अनुमति प्रदान करती है। इस काम को आधार वर्ष की मदद से किया जा सकता है।
आपको बता दें कि आपके दोस्त रिश्तेदार को सत्यापित कर सकते हैं। इसके लिए निवासी और एड्रेस वेरीफाई करने वाले मोबाइल नंबर के साथ जुड़े हुए हैं। दोनों को एक ओटीपी भेज दिया जाता है। इस दौरान एड्रेस सत्यापित करने वाला इसकी मदद से व्यक्ति को अपडेट कर देता है।
इस ऐप से आप आधार कार्ड से जुड़ी सेवाओं को घर पर ही अपने मोबाइल से ठीक कर सकते हैं, जैसे कि पता अपडेट करना, आधार वेरीफाई करना, मेल या ईमेल वेरीफाई करना, ऐड्रेस वैलिडेशन के लिए यूआईडी/ईआईडी रिक्वेस्ट करना, इसके साथ साथ ऑनलाइन रिक्वेस्ट का स्टेटस भी जान सकते हैं। यह ऐप एक मल्टी लैंग्वेज ऐप है, जोकि 13 भाषाओं हिंदी, अंग्रेजी, बंगाली, तेलुगू, तमिल, मलयालम, कन्नड़, ओड़िया, उर्दू, आसामी, मराठी, पंजाबी, गुजराती, कन्नड़ आदि में उपलब्ध है।
UIDAI के मुताबिक इस ऐप के यूजर्स के आधार एप का पुराना वर्जन डिलीट कर नया वर्जन इंस्टॉल करना चाहिए। नए आधार ऐप में दो बड़े सेक्शन हैं। ऐसे में पहला सेक्शन आधार सर्विसेज डैशबोर्ड है और दूसरा माय आधार सेक्शन है। आपको बता दें कि एम आधार रेल सफर के दौरान पहचान पत्र के कागजात के रूप में भी स्वीकार कर लिया जाता है। ऐसे में यदि आपके मोबाइल में m-aadhaar है तो आपको आधार कार्ड की हार्ड कॉपी लेकर हर जगह साथ रखना जरूरी नहीं है।
इस ऐप की खास बात यह है कि एक यूजर अपने डिवाइस में अधिकतम तीन प्रोफाइल ऐड कर सकता है। जिसके लिए आवश्यक है कि उनके आधार एक ही मोबाइल नंबर से रजिस्टर किए गए हो। यदि आपके परिवार के सदस्यों का आधार एक ही नंबर से रजिस्टर्ड है, तो आप उनके प्रोफाइल को अपने मोबाइल में खोल सकते हैं।
mAadhaar ऐप द्वारा आप आधार या बायोमैट्रिक ऑथेंटिकेशन को भी लॉक और अनलॉक कर सकते हैं। आधार से जुड़ी अन्य सेवा एम आधार एप पर अपने आधार प्रोफाइल को रजिस्टर करने के बाद ही ली जा सकती हैं। इस ऐप में आप अपने पास के इनरोलमेंट सेंटर के बारे में भी पता लगा सकते हैं।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.