Loading...

सरकार ने लिया बड़ा फैसला! अब प्रवासी मजदूरों के लिए बनाए जाएंगे 50,000 किराए के घर, सरकारी पेट्रोलियम के साथ-साथ होगा सस्ता रेंट..

0 19
कोविद 19 महामारी के देश में प्रवेश करने के बाद से ही सरकार लगातार देश के मजदूर वर्ग और आर्थिक रूप से कमजोर नागरिकों के लिए कई फैसले लेती नजर आ रही है। इसी कड़ी में प्रवासी मजदूरों के लिए आने वाले समय में सरकार एक और राहत वाला कार्य करने जा रही है।
पेट्रोलियम मंत्रालय ने इंडियन ऑयल और दूसरी सरकारी पेट्रोलियम कंपनियों को प्रवासी मजदूरों को किराए पर देने के लिए 50,000 घर बनवाने को कहा है।
खबरों की मानें तो इससे मजदूरों को सस्ता किराया वाला मकान मिल सकेगा करुणा बीमारी की रोकथाम के लिए सरकार द्वारा लगाए गए लोगों को ध्यान में रखते हुए लाखों मजदूरों के शहरों से गांव की ओर पलायन करने के बाद सरकार ने किफायती किराए के आवास बनाने की योजना तैयार की है।
Loading...
आपको बता दें कि मंत्रालय चाहता है कि आईओसी और हिंदुस्तान पैट्रोलियम कॉर्प लिमिटेड भारत पैट्रोलियम कॉर्प लिमिटेड इंडिया लिमिटेड और ऑयल एंड नेचुरल गैस को अपने अपने पास उपलब्ध जमीन के प्लॉट पर घरों का निर्माण करें।
इस विषय में एक बैठक में शामिल तीन अधिकारियों का कहना यह है कि बैठक की अध्यक्षता तेल मंत्री धर्मेंद्र प्रधान द्वारा की गई जिन्होंने इन कंपनियों को जल्द से जल्द घरों का निर्माण की योजना बनाने को कहा। आपको बता दें कि पेट्रोलियम मंत्रालय की ओर से निर्देश मिलने के बाद सरकारी तेल कंपनियों ने अपने कैंपस के पास ऐसी जगह की तलाश शुरू कर दी है, जहां किराए पर देने के लिए घर बनाए जा सकें।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.