Loading...

GK IN HINDI; आखिर क्या माना जाएगा हवाई जहाज में पैदा हुए बच्चे का जन्म स्थान और कौन सा देश देगा उसको अपनी नागरिकता

0 9

ये बात तो हम सभी जानते हैं कि अंतर्राष्ट्रीय हवाई यात्रा के नियम है कि 7 महीने से अधिक गर्भवती महिला को यात्रा की अनुमति नहीं देते हैं। लेकिन हम यह भी जानते हैं कि दुनिया में कई बार इस तरह की घटनाएं हो चुकी हैं कि हवा में उड़ती हुई फ्लाइट के अंदर सफलतापूर्वक डिलीवरी कराई गई है। हालांकि सवाल यह है कि जब एक बच्चे का जन्म हो ही गया है। तो उसे किस देश की नागरिकता दी जानी चाहिए। जिस देश में उसने उड़ान भरी थी या फिर जिस देश में उसकी फ्लाइट लैंड करने वाली है।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि इस सवाल का जवाब जितनी गहराई से खोजने की हमने कोशिश की उतना ही मुश्किल होता गया। क्योंकि दुनिया की ज्यादातर देशों में इस तरह जन्म लेने वाली शिशु के लिए नागरिकता का कोई भी नियम नहीं है। संयुक्त राज्य अमेरिका में इसके लिए नियम बना है कोई भी शिशु जो अमेरिका की जमीन पर है आसमान पर पैदा हुआ है उसे अमेरिका का नागरिक माना जाता है। उसे अमेरिका में मिट्टी का अधिकार प्राप्त है जो अमेरिका की नागरिकता का प्रमाण है। अमेरिका में फ्लाइट में जन्म लेने वाले बच्चों का जन्म प्रमाण पत्र बनाया जाता है। जिसमें स्पष्ट रुप से लिखा जाता है कि बच्चे का जन्म हवाई जहाज में हुआ था।

व्यवहारिक तौर पर नवजात शिशु के पिता जिस देश में निवास करते हैं। ऐसा होने पर अपने देश वापस लौट जाते हैं और वहां की किसी अस्पताल से उसका जन्म प्रमाण पत्र निकलवा लेते हैं। जिस तरह ज्यादातर देशों में किया जाता है। लेकिन एक प्रॉब्लम जो आज तक सवाल नहीं हो पाई है कोई यही है कि आखिर हवाई जहाज में जन्म लेने वाले बच्चे की जन्म कुंडली को कैसे बनवाया जाएगा।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.