Loading...

पिता काटते थे लकड़ी, बेटा फेंकता था 140 किमी/घंटे की रफ्तार से बॉल, अब कहां है IPL का वो खतरनाक गेंदबाज?

0 4

आईपीएल ने भारत को कई बेहतरीन क्रिकेटर दिए हैं. हर साल आईपीएल में कई युवा खिलाड़ी शामिल होते हैं और शानदार प्रदर्शन कर अपना नाम बनाते हैं. ऐसा ही एक महान लेग स्पिनर साल 2009 के आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स की टीम से जुड़ा था. उस समय ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज शेन वॉर्न राजस्थान रॉयल्स से कप्तान थे. एक दिन अचानक 19 साल का एक अंजान लड़का दुनिया के सामने आया. उस युवा तेज गेंदबाज का नाम था कामरान खान.

शेन वॉर्न ने दावा किया था कि कामरान 140 किमी/घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी करते हैं, जिसके बाद सभी की नजरें उन पर टिक गई. 2009 के आईपीएल में कामरान ने कुछ खास गेंदबाजी तो नहीं की. लेकिन 2010 में उन्होंने अपनी रफ्तार से दिग्गज बल्लेबाजों को काफी हैरान किया. कोलकाता के विरुद्ध खेले गए एक मैच में कामरन ने ब्रैडन मैक्कलम और क्रिस गेल जैसे धाकड़ बल्लेबाज पवेलियन का रास्ता दिखाया. इस मैच में उन्होने 13 रन देकर दो विकेट हासिल किए. लेकिन साल 2011 के आईपीएल में दो मैच खेलने के बाद वो गायब हो गए.

पहली बार कामरान अकमल साल 2009 में राजस्थान की टीम में शामिल हुए थे. उनके इस टीम में शामिल होने की कहानी काफी दिलचस्प है. उस समय राजस्थान के कोचिंग डायरेक्टर कोचिंग डायरेक्टर डैरेन बेरी नई प्रतिभा की खोज में मुंबई पहुंचे. उन्होंने कामरान को एक टी-20 टूर्नामेंट में गेंदबाजी करते हुए देखा था. उनकी गेंदबाजी से कोच बहुत ज्यादा प्रभावित हुए और उन्हें राजस्थान की टीम में शामिल कर लिया. कामरान के पिता उन दिनों जंगल में लकड़ी काटने का काम करते थे. उस समय कामरान को फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेलने का कोई भी अनुभव नहीं था. वह मूल रूप से एक टेनिस बॉल क्रिकेटर थे.

2009 में दक्षिण अफ्रीका में खेले गए आईपीएल में राजस्थान टीम के वार्म अप मैच के दौरान बैट्समैन जस्टिन ऑनटॉन्ग को यॉर्कर गेंद डाल कर कामरान ने ऑफ स्टंम्प उड़ा दी थी. जिसके बाद कप्तान शेन वॉर्न उनकी गेंदबाजी के दीवाने हो गए थे. मीडिया में उन्होंने दावा भी किया था कि इस आईपीएल सीजन कामरन अपनी रफ्तार और गेंदबाजी से तहलका मचा देंगे और आने वाले समय में भारतीय टीम के बड़े स्टार साबित होंगे.

Loading...
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.