Loading...

क्या आप जानते है मटर खाने के इन जबरदस्त फायदों के बारें में, अल्सर से लेकर कैंसर जैसी बड़ी बीमारियों का है काल

0 44

सर्दियां आई नहीं कि हरी मटर की बहार आ जाती है वैसे तो हरी मटर पूरे साल मिलती है। मटर में कई तरह के एंटी ऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो गंभीर बीमारियों का कारण बनते हैं। मटर लोगों कैल्शियम जिंक कॉपर मैग्नीज आदि जैसे खनिजों की समृद्ध स्रोत है। यह शरीर की इम्युनिटी को बढ़ाने का काम करती है।

हरी मटर कच्ची और पक्की दोनों तरह से खाई जाती है छोटे बड़े सब बड़े चाव से इसको खाते हैं। बाजार में यह मटर डिब्बाबंद मिलती है मटर की सब्जी का स्वाद लाजवाब होता है। लेकिन यदि मटर किसी अन्य चीज में मिलाकर खाई जाए तो यह बहुत ज्यादा टेस्टी लगती है। चलिए आज हम आपको हरी मटर खाने के कुछ बेहतरीन फाइलों के बारे में बताते हैं।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि मटर में वसा और कैलोरी बेहद कम होती है। इसलिए वजन कम करने के लिए शाकाहारी और मांसाहारी दोनों के लिए यह बेहद फायदेमंद होती है। हरी सब्जी वैसे तो स्वास्थ्य के लिए अच्छी मानी जाती है लेकिन मटर की बात करें तो है वजन को प्रभावी ढंग से प्रभावित करती है।

मटर की इन छोटे दानों में पेट के अल्सर जैसी भयानक बीमारी को रोकने की क्षमता होती है। आपको बता दें कि इसके अंदर प्रचुर मात्रा में कई सारे गुण पाए जाते हैं जो कैंसर को रोकने का भी काम करती है।

Loading...

हालांकि आपके चेहरे की खूबसूरती बढ़ाने के लिए भी बेहद फायदेमंद मानी जाती है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट एक जैसे गुण स्किन को प्राकृतिक रूप से चमक देते हैं। मटर में मौजूद विटामिन ए के अल्जाइमर और घटिया जैसी गंभीर समस्याओं को रोकने के लिए मददगार साबित होते हैं। अल्जाइमर से पीड़ित मरीजों में मटर का सेवन मस्तिष्क में न्यूरो क्षमता को कम करता है।

मटर में मौजूद विटामिन ‘के’ अल्जाइमर और गठिया जैसी गंभीर बीमारियों की रोकथाम में मदद करता है. अल्जाइमर के पीडि़त मरीजों में मटर का नियमित सेवन मस्तिष्क में न्यूरोनल क्षमता को कम करता है।

शरीर के जले हुए हिस्से पर ताजी हरी मटर का पेस्ट लगाने से जलन कम होती है। ल्यूटिन, कैरोटीन, जिया एक्संथिन के साथ विटामिन ‘ए’ विटामिन ‘ए’ व आवश्यक पोषक तत्व है जो आंखों की शेष मछली स्किन और आंखों की रोशनी के लिए बेहद फायदेमंद होता है

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.