Loading...

यह पौधा नहीं है जहरीला, गुणों की खान है इसका रस, पत्ते सहित डंठल में भी मौजूद है औषधीय गुण

0 103

आपके आसपास कई सारे जंगली पौधे मौजूद होंगे। जिनके अंदर दूध होता हैं। आपको बता दें इसके अंदर औषधीय गुण भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। आमतौर जंगली जैसे दिखने वाले यह पौधे सेहत के लिए किसी खजाने से कम नहीं है बस आपको इनका इस्तेमाल करने का तरीका आना चाहिए ऐसा पौधा होता है जिसे आंक का पौधा कहा जाता है।

जंगली और जहरीला समझा जाने वाला यह पौधा आपको कहीं भी आसानी से देखने को मिल जाएगा बताया जाता है कि उसका रस बड़ी बीमारियों को दूर करता है और यह कान दर्द बाबासीर खांसी कब्ज पेट के रोग जैसी समस्याओं के लिए बेहद फायदेमंद है।

जुकाम या नाक बंद होने पर इस पौधे के दो चम्मच दूध में दो चम्मच चावल भिगो दें। जब सूख जाए तो पीसकर कपड़े से छान लें। इसे सूंघने पर बंद नाक खुल सकती है। इसे सूंघने से छींक अधिक आए तो इसमें देसी घी मिला सकते हैं।

इसके फूल दो गिलास पानी में रात को उबालें और इसकी भाप से एड़ियों को सेंकें। इसके बाद गरम-गरम फूलों को एड़ियों पर बांधे एक हफ्ते तक ऐसा करें ऐसा करने से एड़ियों का दर्द अपने आप ही दूर हो जाएगा।

Loading...

पथरी के लिए ऐसा माना जाता है कि इसके दो से तीन फूल पीसकर एक गिलास दूध में बोलकर सुबह रोजाना 40 दिन तक पीने से पथरी अपने आप ही खत्म हो जाती है।

खराब खानपान और बिगड़ती जीवनशैली की वजह से कब्ज और बवासीर की समस्या बेहद आम हो गई है। सूर्योदय से पहले आप अकवन के तीन बूंद दूध बताशे में डालकर खाने से बवासीर में काफी लाभ होता है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.