Loading...

इन संकेतों के जरिए पता लगता है आपके पिछले जन्म से आपका कनेक्शन, ऐसे समझें ये इशारे

0 3

पितृपक्ष में अपने पूर्वजों की शांति के लिए श्राद्ध तर्पण किए जाते हैं। माना जाता है कि इसके बाद ही पितरों को मोक्ष प्राप्त होता है। या वह नया जन्म ले पाते हैं ऐसे में यदि वे कहीं अपना नया जन्म लेते हैं। तो इसमें इस जन्म में भी उनके पिछले जन्म का कनेक्शन उनके साथ रहता है। संकेतों से वह बचपन से ही अपने पिछले जन्म कि कई चीजों के बारे में बताते हैं। या फिर उनकी यादों के बारे में कुछ ऐसा कर देते हैं। जो उनके पिछले जन्म से जुड़ी होती हैं यहां तक कहा जाता है कि कई बार छोटे बच्चे या पिछले जन्म की बातों को लेकर हंसते हैं रोते भी हैं। यह भी माना जाता है कि कई बार तो लोगों को लंबे समय तक अपने पूर्व जन्म की यादें रह जाती हैं। ऐसे में कई बार किसी शहर में पहली बार जाने पर वहां की पूरी जानकारी होना रास्ता क्या है या फिर पहले से देखा हुआ होना महसूस होता है।

इस संबंध में पंडित सुनील शर्मा जी का कहना है कि आपके मन और चित्त में अंतर है। चित्त में एक लाख जन्मों की स्मृतियां संग्रहित रहती है। चित्त कभी न नष्ट होने वाली हार्ड-डिस्क की तरह होता है। वर्तमान जन्म से पहले का जन्म सबसे ज्यादा स्पष्ट होता है क्योंकि उस जन्म में मरकर ही हम इस जन्म में आए हैं। ऐसे में ताजा मामला जरा ज्यादा स्पष्ट होता है।

आपके सामने कुछ ऐसी घटनाएं घटित रहती हैं, जिससे यह संकेत मिलता है कि आपका कोई पिछला जन्म भी था। यानी आपका जन्म इस जीवन से पहले भी हुआ था कि उसको धुंधली धुंधली सी यादें होती है। यदि आपके पीछे जन्म में बुरी घटनाओं के दौर से आप दूसरे हैं तो इस जन्म में आपका स्वभाव के सी होनी अनहोनी की आशंका से ग्रस्त रहता है कि अभी आपके पिछले जन्म से मौत स्वभाविक नहीं हुई है। तो निश्चित रूप से आप किसी और की घटना के भय से हमेशा परेशान रहते हैं।

वैसे तो डरना एक साधारण सी क्रिया होती है। लेकिन जब आप बेवजह की चीजों से जैसे कोई निश्चित रंग स्वाद गंध या फिर स्वाद इन सब से डरते हैं तो यही आम इंसान का डरना नहीं होता और ना ही यह साधारण बात होती है। इसके अलावा अगर आपको अंधेरे से या पानी से डर लगता है या किसी खास तरह के कपड़े और टोपी को पसंद या नापसंद करते हैं तो यह भी पिछले जन्म का संकेत हो सकता है। किसी किसी में यह डर इस कदर हावी होता है कि उसका जीना भी मुश्किल हो जाता है। हालांकि मनोवैज्ञानिक इसको फोबिया कहते है।

Loading...

जब आप किसी शहर गरीब गांव या कस्बे से गुजर रहे होते हैं तो अचानक से आपको ऐसा लगता है कि जैसे यहां पर मैं पहले कभी आया हूं इस जगह में कुछ तो है जो मुझे बहुत ज्यादा आकर्षित कर रही है। हो सकता है कि आप इसी स्थान पर पहली बार गए हैं। लेकिन वह आपको कुछ जाना पहचाना सा लग रहा है तो हो सकता है कि यह जगह पर आपको सपने में दिखाई देती हो।

अक्सर कुछ सपने ऐसे होते हैं जो आपके पूरे मन से जुड़े होते हैं। हो सकता है कि आप किसी गली में किसी के साथ घूम रहे हो या फिर कोई घर आपको बार-बार दिखाई देता हो तो अक्सर आप उस घर की छत पर ही आंगन में खुद को पाते हैं। कभी-कभी ऐसे सपने डरावने भी हो सकते हैं। कभी-कभी ऐसे सपने डरावने भी हो सकते हैं। सामान्यत: हमें उस घर या गली के सपने ज्यादा आते हैं जहां आपने बचपन बिताया है। इसी तरह आपने अपने पिछले जन्म में भी कई घरों में अपना जीवन बिताया है। उन घरों की स्मृतियां आपके अंदर हमेशा मौजूद रहेगी।

वे स्मृतियां समय-समय पर जागृत होती रहती है यह आपके पिछले जन्म से जोड़ने की एक कड़ी होती है आप इस पर गौर करेंगे तो निश्चित रूप से पाएंगे कि सपनों में अपने पिछले कुछ जन्म के घर कोई स्पष्ट रूप से देख पाएंगे। हो सकता है कि आप किसी बोर्ड पर उस शहर का नाम भी देखें। आप पढ़ ले जहां आप पिछले जन्म में रहते थे। कभी कभी अचानक से ऐसे सपने स्पष्ट रूप से आते हैं। लेकिन अधिकतर लोग इस पर ध्यान नहीं देते

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.