Loading...

डायबिटीज को जड़ से ख़त्म करने के माहिर है ये आयुर्वेदिक जड़ी बूटियां

0 5

डायबिटीज एक ऐसी खतरनाक बीमारी है। जिसका कोई भी इलाज नहीं है और इसे सिर्फ कंट्रोल ही किया जा सकता है। खराब खानपान और बिगड़ती लाइफस्टाइल की वजह से यह बीमारी बहुत तेजी से लोगों को अपना शिकार बना रही है। अगर डायबिटीज को कंट्रोल नहीं किया गया तो यह कई गंभीर बीमारियों को भी जन्म दे सकती है।

हेल्थ एक्सपर्ट मानते हैं कि डायबिटीज के मरीजों को मोटा पर ब्लड शुगर और दिल से जुड़े विकारों का अधिक खतरा रहता है। यही वजह है कि ऐसे मरीजों को बेहतर खानपान और हेल्दी लाइफस्टाइल जीने की सलाह दी जाती है।

दिल्ली के फेमस हृदय रोग विशेषज्ञ डॉक्टर जेसी मोहन के अनुसार, भारत में लगभग 7.5 करोड़ लोग डायबिटीज से पीड़ित है। शरीर में शुगर लेवल बढ़ने और शरीर में इंसुलिन की मात्रा कम होने के कारण यह बीमारी होती है। उससे बुजुर्ग ही नहीं बल्कि युवा बच्चे और गर्भवती महिलाएं भी इस बीमारी की चपेट में आ रहे हैं।

ब्लड शुगर के स्तर को कम करने के लिए करेला जिसमें दो बहुत आवश्यक यौगिक होते हैं इसे चारैटिन और मोमोर्डीसिन कहा जाता है, सबसे अच्छा उपलब्ध विकल्प होता है। इसके लिए सौ ग्राम करेले का जूस बनाकर सुबह खाली पेट में ऐसा करने से डायबिटीज के मरीजों को काफी ज्यादा लाभ देखने को मिलता है।

Loading...

मेथी डायबिटीज को नियंत्रित करती है। ब्लड शुगर को कम करती है। ग्लूकोस पर निर्भर इंसुलिन का स्त्राव को प्रोत्साहित करने में मदद मिलती है इससे डायबिटीज के मरीजों को अपने आहार में मेथी शामिल करनी चाहिए। इसके लिए एक चम्मच मेथी को रात को पानी में डालना चाहिए सुबह खाली पेट
चबाकर खा ले और पानी पी लें। इससे डायबिटीज को नियंत्रित करने में मदद मिलती है।

आम के पत्ते जिन्हें हम बेकार समझ कर फेंक देते हैं। वह डायबिटीज की बीमारी के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होते हैं। इसके लिए आम के कुछ ताजे पत्तों को एक गिलास पानी में उबाल लें और रात भर ठंडा होने के लिए छोड़ दें। सुबह खाली पेट इसके पानी का सेवन करें ऐसा करने से काफी ज्यादा राहत देखने को मिलती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.