Loading...

शिवपुराण में इन बातों को बताया गया है घोर पाप, इन पापों को करने वालों को शिव जी कभी नहीं करते माफ

0 21

हिंदू धर्म के 18 पुराणों में से एक है। शिवपुराण। इनमें जीवन-मृत्‍यु, पाप-पुण्‍य और अच्‍छे और बुरे कर्मों के बारे में काफी विस्तार से बताया गया है। इसमें से एक है शिव पुराण शिव पुराण मुख्य रूप से भगवान शिव को समर्पित है। इसमें भगवान शिव से जुड़ी सभी प्रकार की बातों के बारे में बताया गया है। शिव पुराण में ऐसे साथ पाप के बारे में बताया गया है जिनको करने से भगवान जी क्रोधित होते हैं।

किसी के लिए मन में दुर्भावना रखने या फिर बुरा सोचने पर भी आप आपके भागीदार बनते हैं। इसलिए अपने मन को हमेशा साफ रखें और किसी के प्रति भी बुरा ना सोचे।

किसी भी व्यक्ति को कभी भी धर्म से संबंधित धोखा करने के बारे में नहीं सोचना चाहिए। शिव पुराण में से पाप माना गया है कभी भी किसी के पैसे पर बुरी नजर नहीं रखनी चाहिए। बहुत से लोग लालच के कारण अपने सगे संबंधियों को भी ठग लेते है।

स्त्री या पुरुष किसी दूसरी स्त्री या पुरुष पर बुरी नजर डालते हैं। भगवान शिव उनको कभी माफ नहीं करते जो लोग दूसरी स्त्री या पुरुष को पाने की इच्छा रखते हैं ऐसे लोग पाप के भागीदार बनते हैं। बहुत से लोग प्रेम में होने के शादी होने के बावजूद भी पराई स्त्री के बारे में सोचते हैं उनसे भगवान शिव हमेशा क्रोधित रहते हैं।

Loading...

किसी गर्भवती स्त्री या किसी मासिक काल में चल रहे ही तो ऐसे में उसको कभी कठोर वचन नहीं बोलने चाहिए। क्योंकि ऐसा बोलने से आप पाप के भागीदार बनते हैं ऐसा करने से उनके मन को ठेस पहुंचती है जो लोग ऐसा करते हैं भगवान उन्हें कभी भी माफ नहीं करते।

शिव पुराण के मुताबिक जो लोग अपने माता पिता घर की लक्ष्मी आने की पत्नी पूर्वज गुरु या फिर किसी सदस्य का अपमान करते हैं। उन्हें भगवान कभी माफ नहीं करते किसी व्यक्ति को बेवजह नीचा दिखाना या फिर बुरा भला कहना भी पाप की श्रेणी में आता है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.