Loading...

GK IN HINDI; गहराई में उतरने के बाद अपने आप ही बदल जाता है इंसान के खून का रंग

0 19

वैसे तो इंसान के खून का रंग लाल होता है लेकिन आपको बता दें कि एक समय ऐसा भी आता है। जब इंसान के खून का रंग भी बदल जाता है। जी हां आपको बता दें कि जमीन के नीचे पानी की गहराई में उतरने पर इंसान के खून का रंग अपने आप बदल जाता है।

यूट्यूब पर मजेदार जानकारियां शेयर करने वाले विकास जोशी जी का कहना है कि यदि कोई व्यक्ति इस जमीन के नीचे पानी के अंदर 30 से 50 फुट नीचे है और किसी कारण उसका खून निकलता है तो उसको खून अपने आप ही हरे रंग में बदल जाता है। उसके साथ मौजूद दूसरे व्यक्ति का खून भी हरे रंग का दिखाई देने लगता है। दरअसल खून का रंग नहीं बदलता बल्कि आंखों को दिखाई देने वाले दृश्य बदल जाते हैं। यह विज्ञान का एक सबसे बेहतरीन उदाहरण है।

दरअसल जमीन पर हम खून का रंग लाल क्यों दिखाई देता है। क्योंकि हमारा खून सूर्य से आ रही सभी धर्म की किरणों को सोख लेता है। क्योंकि सिर्फ लाल रंग की किरण ही नहीं सो पाता। उसे परावर्तित करके वापस भेज देता है। इसलिए जमीन पर हमें खून का रंग लाल ही दिखाई देता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि खून में लाल रक्त कोशिकाओं की संख्या ज्यादा होती है।

लेकिन पानी के अंदर स्थिति थोड़ी बदल जाती है। वही खून सूर्य से आ रही सारी किरणों को सोख लेता है। सूर्य हरे रंग की किरण को ही नहीं सोख पाता और उसे परवर्तित या कहें कि वापस भेज देता हैं। इसी कारण पानी के 30 से 50 फ़ीट नीचे हमे खून का रंग हरा नज़र आता हैं।

Loading...
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.