Loading...

GK IN HINDI; जानिएआखिर गोल ही क्यों बनाई जाती है पानी की टंकी, चौकोर या तिकोनी क्यों नहीं बनती

0 3

पानी की टंकियां तो आप सभी ने देखी होंगी। नगर निगम की बड़ी पानी की टंकी जो करीब 100 फुट ऊंचाई पर स्थापित की जाती है। या फिर घर के बाथरूम में सप्लाई के लिए रखी जाने वाली 500 लीटर की टंकी। एक बात उसमें समान होती है कि वह सबकी सब गोल होती है। जबकि जिस स्थान पर रखी होती है यदि चौकोर होती है। तो स्थापित करने में सबसे ज्यादा अच्छा होता है। सवाल यह है कि हमेशा पानी की टंकी आखिर गोल क्यों होती है।

भारतीय नौसेना से रिटायर प्रवीण कुमार घोष इस बात को बताते हैं कि है केवल पानी की टंकियों के आकार की बात नहीं है। परंतु अधिक से वस्तुओं के आकार गोल होने के पीछे भौतिकी विज्ञान की सूत्र व पदार्थ के मौलिक आकार पर बाहरी प्रभाव, दबाव, एवं पारिपार्शिक परिस्थिति की प्रतिक्रियॉ आदि के सिद्धान्त पर ही आधारित हैं। गोलाकार वस्तु के कोई कोण नहीं होता है,

अगर इसको सरल शब्दों में समझने की कोशिश की जाए तो यदि पानी की टंकी को चौकोर बना दिया जाएगा तो उसके चार कोने स्थापित हो जाएंगे ऐसी स्थिति में जब पानी टंकी के अंदर जब पानी भरा जाएगा। तब टंकी से पानी निकाला जाएगा तब पानी में हलचल होगी और कौन होने के कारण हलचल थोड़ा सा तेज हो जाएगी। जिसके चलते टंकी की उम्र कम होगी और वह जल्दी ही चली जाएगी। कुछ कंपनियां ग्राहकों की मांग पर चोको पानी की टंकी बनाती है परंतु ऐसी टंकियों के निर्माण और विक्रय की प्रक्रिया बेहद धीमी होती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.