Loading...

शरीर में जमा गंदगी महज दो दिन में हो जाएगी साफ़ बस आम के पत्ते, ऐसे करें इस्तेमाल

0 154

शरीर को हेल्दी और फिट रखने के लिए शरीर की बाहरी सफाई के साथ-साथ आंतरिक सफाई का भी बेहद ध्यान रखना चाहिए। आजकल खराब खानपान और खराब लाइफस्टाइल के कारण शरीर को कई तरह की गंभीर बीमारियां हो जाती हैं। ऐसे में इन गंभीर बीमारियों से बचने के लिए आज हम आपको कुछ उपाय बताने वाले हैं।

अगर आपको हर समय आलस आता है चेहरे पर कील मुंहासे निकलते हैं। बाल गिरने और पेट में बीमारियां जैसे समस्या रहती है तो आप समझ जाइए कि आपके शरीर में गंदगी जमा हो चुकी है। जिससे साफ करना बेहद जरूरी है। खराब लाइफस्टाइल और डाइट की वजह से शरीर बीमारियों का घर बनने लगता है यही वजह है कि आजकल हर दूसरा व्यक्ति पेट दर्द गैस एसिडिटी कब्ज और पेट में जलन जैसी समस्याओं से परेशान है। एक रिपोर्ट के मुताबिक वर्तमान समय में करीब 70 फ़ीसदी लोग इस समस्या से पीड़ित है। ऐसे में आज हम आपको कुछ घरेलू उपाय बताने वाले हैं जिनका इस्तेमाल करके आप इन समस्याओं से आसानी से निजात पा सकते हैं।

आम के पत्ते एक आयुर्वेदिक चीज है यह दिल के लिए काफी फायदेमंद है। आम की पत्तियों का चूर्ण बनाकर एक का प्रतिदिन सेवन करें ऐसा करने से दिल से जुड़ी बीमारियां काफी हद तक कम हो जाते हैं। इसका सेवन करने से किडनी लीवर की बीमारियां कम होती है इतना ही नहीं इस शरीर में जमा हानिकारक विषैले तत्व भी बाहर आ जाते है।

अभी आप किडनी फेफड़े और लीवर को हमेशा स्वस्थ रखना चाहते हैं। तो आपको आम की पत्तियों को सुखाकर बारीक पीसकर पाउडर बना लें और इस पाउडर को प्रतिदिन खाने से 20 मिनट पहले आधा चम्मच की मात्रा में लें। ऐसा करने से आपको काफी हद तक फायदा देखने को मिलेगा।

Loading...

यदि आप कितनी फेफड़ों और लीवर को हमेशा स्वस्थ बनाए रखना चाहते हैं। तो आपको आम की पत्तियों को सुखाकर बारीक पीसकर पाउडर बनाना चाहिए इस पाउडर को प्रतिदिन खाना खाने से 20 मिनट पहले आधा चम्मच की मात्रा में इसका सेवन करें। ऐसा करने से आपको काफी ज्यादा लाभ देखने को मिलेगा।

जानकारी के लिए आपको बता रहे हैं कि हाई ब्लड प्रेशर के रोगियों के लिए आम की पत्तियां बेहद कारगर होती हैं। आम की पत्तियों का काढ़ा बनाकर पीने से कुछ ही दिनों में आपको हाई ब्लड प्रेशर जैसी समस्याओं से भी राहत मिलेगी।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.