Loading...

महाभारत काल से जुड़ी है इस कुंड की कहानी, वैज्ञानिक भी नहीं लगा पाए सच्चाई का पता

0 4

इस दुनिया में कई सारे ऐसे रहस्य मौजूद हैं। जो आज तक रहे थे। इनके बारे में खूब पता लगाने की कोशिश की गई। लेकिन वैज्ञानिक तत्पर हो गए आज हम आपको एक ऐसे ही कुंड के बारे में बताते हैं। जो भारत में है और इसके बारे में कहा जाता है। जिसकी गहराई आज तक वैज्ञानिक भी नहीं नाप पाएं है।

इस रहस्यमई कुंड का नाम है। भीम कुंड के मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले करीब 70 किलोमीटर दूर बाजना गांव में स्थित है। जैसा कि नाम से ही पता चलता है इस कुंड की कहानी महाभारत काल से जुड़ी हुई।

हालांकि इस कुंड के बारे में कहा जाता है कि महाभारत काल में जब यह पांडव अज्ञातवास पर थे और इधर-उधर भटक रहे थे। तो उन्हें बहुत जोर की प्यास लगी लेकिन उन्हें कहीं भी पानी नहीं मिला। तभी मैं अपनी गदा से जमीन पर मार कर यह कुंड बनाया और अपनी प्यास बुझाई कहते हैं कि 40 से 80 मीटर चौड़ा यह पूर्ण देखने में बिल्कुल एक गधा के समान दिखाई देता है।

हालांकि है कुंड देखने में बिल्कुल सामान्य सा लगता है। लेकिन इसकीओ खासियत आपको हैरान कर देगी। इस कुंड के बारे में कहा जाता है कि जब भी एशियाई महाद्वीप में कोई प्राकृतिक आपदा घटने वाली होती है तो कुंड का पानी अपने आप बढ़ने लगता है।

Loading...

कहते हैं कि इस रहस्यमय कुंड की गहराई पता लगाने की कोशिश की गई और स्थानीय प्रशासन से लेकर विदेशी वैज्ञानिकों डिस्कवरी चैनल कितने की है लेकिन सभी को निराशा ही हाथ लगी है।

कहा जाता है कि एक बार विदेशी वैज्ञानिकों ने कुंड की गहराई पता करने के लिए 200 मीटर पानी के अंदर तक ये कैमरा भेजा। लेकिन फिर भी गहराई पता नहीं चल सकी इस कुंड के बारे में कहा जाता है कि इसका पानी गंगा की तरह बिल्कुल पवित्र है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.