Loading...

Post Office की मंथली इनकम स्कीम है बुढ़ापे के लिए सबसे कारगर! ब्याज और टैक्स में भी मिलता है फायदा..

0 4
वैसे तो पोस्ट ऑफिस में कई ऐसी स्कीम है जिसके द्वारा आप छोटे निवेश से भी पैसा बना सकते हैं। डाकघर की इन योजनाओं पर ब्याज दर भी काफी अच्छी उपलब्ध कराई जाती है। आपको बता दें कि छोटे सेविंग्स स्कीम में पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम भी एक अच्छा विकल्प है।
इस स्कीम में आप बेहद ही कम निवेश से शुरुआत कर सकते हैं, यही एक कारण है जिससे यह स्कीम पूरे देश में काफी अच्छी तरह प्रचलित है। पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम में जोखिम ना के बराबर है। यह स्कीम खासकर सीनियर सिटीजन के लिए एक बेहतर विकल्प है। इस स्कीम में 5 साल तक का निवेश किया जा सकता है।
व्यक्तिगत रूप पर इस स्कीम में 4.5 लाख रुपए निवेश किए जा सकते हैं। अगर ज्वाइंट अकाउंट के रूप में यह स्कीम खोली जाती है, तो इसका लाभ भी दुगना हो जाता है। इसमें निवेश की अधिकतम राशि 9 लाख रुपए है। वर्तमान समय में इस पर क्षेत्र प्रतिशत की ब्याज दर पोस्ट ऑफिस द्वारा दी जाती है, जिसे सालाना रूप में दिया जाता है।

इस योजना में मेच्योरिटी तक निवेश की रकम सरकार द्वारा प्रोटेक्ट की जाती है। यह एक फिक्स्ड इनकम स्कीम है। इसकी धनराशि मार्केट में जोखिम से प्रभावित नहीं होती है।
पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम का लॉगइन पीरियड 5 साल के लिए होता है। मैच्योरिटी के बाद इस रकम को विड्रॉ किया जा सकता है या फिर रीइन्वेस्ट भी कर सकते हैं।
इस स्कीम में निवेशक कम से कम 1,000 रुपए से शुरुआती निवेश कर सकता है। वैसे तो बाद में अपनी सहूलियत से निवेश की रकम को बढ़ाया जा सकता है, जो राशि हजार के मल्टीपल में ही होगा।
पोस्ट ऑफिस का यह  मंथली इनकम स्कीम आयकर विभाग की धारा 80c के तहत नहीं आता है। ऐसे में इससे होने वाले इनकम पर आयकर देना होगा इस पर कोई भी टीडीएस नहीं काटा जाता है।
इस स्कीम में निवेश करने से पहले महीने तेही निवेशक को उसकी रकम से आउट मिलना शुरू हो जाता है, लेकिन इस बात का ध्यान अवश्य रखना होगा कि पेआउट हर महीने के अंत में ही मिलता है।
इस स्कीम के द्वारा मिलने वाला रिटर्न महंगाई से लड़ने के लिए मदद नहीं करता है। वैसे तो एफडी समेत अन्य फिक्स्ड इनकम की तुलना में अधिक ब्याज देता है।
यदि कोई व्यक्ति चाहे तो अपने नाम पर एक से अधिक खाते खोल सकता है। इसके बावजूद भी वह सभी अकाउंट को मिलाकर अधिकतम 4.5 लाख रुपए तक का ही निवेश कर सकता है।
आपको बता दें कि एक अकाउंट को अधिकतम तीन लोग मिलकर खोल सकते हैं। इस बात का ध्यान रखना अनिवार्य होगा, कि इसमें भले ही कोई भी योगदान दे जमा किया गई राशि सभी 3 लोगों के लिए होगा।
इस खाते को खोलने के लिए अधिकतम आयु सीमा 10 वर्ष से अधिक होनी चाहिए। वैसे तो माइनर इस स्कीम के अनुसार 18 वर्ष की उम्र के बाद ही इस अकाउंट को एक्सेस किया जा सकता है। माइनर के मामले में कुल निवेश 3 लाख रुपए से अधिक नहीं होना चाहिए।
इसमें निवेशक अपने परिवार से किसी भी व्यक्ति को बेनिफिशियल के तौर पर नॉमिनी बना सकता है, जो भविष्य में इस रकम पर क्लेम कर सके।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.