Loading...

बिना Biometric बनता है बच्चों का आधार, जानें किस तरह कर सकते हैं आवेदन..

0 4

यह तो आप सभी जानते होंगे कि आधार कार्ड एक बहुत ही जरूरी दस्तावेज है। कोई भी कागजी कार्यवाही क्यों ना हो आधार कार्ड की आवश्यकता होती ही है। यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया द्वारा चालित किए जाने वाला आधार कार्ड किसी भी व्यक्ति की पहचान के लिए एक सबसे अहम दस्तावेज है। इसका प्रयोग सरकारी योजनाओं रेलवे टिकट बुकिंग, पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सर्विस और बैंक खाते आदि जगहों पर होता है।

आधार कार्ड बनाने के लिए उम्र सीमा ते नहीं है। एक नवजात से लेकर व्यस्क व्यक्ति तक के लिए आधार कार्ड बनाया जा सकता है। सभी के मन में यह सवाल जरूर आता होगा कि एक नवजात के नाम पर आधार कार्ड कैसे बनाया जा सकता है। आपको बता दें कि यूआईडीएआई भारत में रह रहे नागरिकों के आधार कार्ड बनाने की सुविधा देता है। चाहे नागरिक की उम्र जो भी हो वह आधार कार्ड बनाने का लाभकारी बन सकता है।
बच्चों के लिए आधार बनवाना भी बहुत महत्वपूर्ण है। बच्चों के लिए आधार बनाना इसलिए जरूरी है, क्योंकि स्कूल अभिभावकों में एडमिशन के दौरान आधार कार्ड मांगा जाता है। वहीं मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने यह घोषणा कर दी है कि बिना आधार कार्ड वाले बच्चों को मिड-डे-मील भी नहीं दिया जा सकता।
Loading...
अब सवाल यह है कि बच्चों के लिए आधार कार्ड बनवाने के लिए कैसे अप्लाई करें। बच्चों के लिए आधार कार्ड बनाए जाने वाला आधार को बाल आधार कार्ड जाता है। यह आधार नीले रंग का होता है।
आप इसे बनवाने के लिए अपने किसी भी नजदीकी आधार केंद्र पर जा सकते हैं। इस दौरान बच्चे का बर्थ सर्टिफिकेट और माता-पिता का आधार कार्ड जरूरी होता है। 5 साल के बच्चों का बायोमेट्रिक नहीं लिया जाता। बच्चों के आधारभूत अभिभावकों के आधार से लिंक करके बनाया जाता है। इसके अलावा अभिभावकों का एड्रेस प्रूफ, आइडेंटी प्रूफ आदि भी आधार बनाने के लिए लगाया जाता है।
आधार केंद्र के अलावा अभिभावक यूआईडीएआई की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर भी इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए आपको आधार कार्ड रजिस्ट्रेशन लिंक पर जाना होता है। यहां पर फॉर्म भर के आपको दस्तावेजों को ऑनलाइन सेव करके फॉर्म फिल करना होता है।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.