Loading...

Vastu Tips: गलत दिशा में बनाया किचन, बनता है घरवालों की मुसीबत

0 12

कहते हैं कि जैसा अन्न वैसा मन है किसी ने एक ऐसी जगह है जहां ग्रहणी अन्नपूर्णा और भोज्यकर्ता बन जाती है। एक नारी ही है जो आम भोजन को अमृत बना देती है। इसलिए घर के खाने में बरकत होती है। अगर आपके मन में शब्द विचार हैं। तो आप जो भोजन तैयार कर रही हैं। उसमें भी पवित्रता रहेगी। इस भोजन ही नहीं बल्कि किचन में भी बहुत सी बातों का ध्यान रखते हैं। तो इससे आपके घर में बरकत होती है।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि किचन हमेशा आग्नेय कोण यानी कि दक्षिण दिशा में होना चाहिए। वहां शुक्र की डायरेक्शन क्रिएट हो जाती है इसलिए इस दिशा में किचन बनवाना बेहद शुभ माना जाता है।

सबसे पहले तो किचन को हमेशा साफ रखें। साथ ही खाना हमेशा बने कोण यानी दक्षिण पूर्व दिशा में बनवाएं। इस दिशा में बनाया गया खाना ना सिर्फ पौष्टिक देता है। बल्कि बैक्टीरियल ग्रोथ को भी कम करता है।

आपके किचन में पानी की व्यवस्था हमेशा नॉर्थईस्ट दिशा में होनी चाहिए। अगर नार्थ-ईस्ट दिशा में रखें। अगर नार्थ-ईस्ट में शेल्प भी बनवा रखी है तो पानी की नल उससे कम से कम आधा इंच नीचा होना चाहिए।

Loading...

किचन के रैक को पानी की साइड से लेफ्ट साइड पर रखे। मसालों को हमेशा साउथ वेस्ट किया था। उस दिशा में रखें। खाना हमेशा ढक कर ही रखना चाहिए। साथ ही भोजन करने के बाद झूठे बर्तन हमेशा सिंक में रखे हैं। वास्तु के मुताबिक बर्तन हमेशा रात को साफ़ करके रखने चाहिए। वास्तु के मुताबिक ऐसा करने से घर में सुख-शांति बनी रहती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.